सर्वपितृ अमावस्या को बना सकते हैं ये 5 तरह की खीर

Sarvapitru amavasya Food
Sarvapitru amavasya Bhog
गाय के दूध से बनी खीर
सामग्री :
2 लीटर गाय का दूध, डेढ़ मुट्ठी बासमती चावल, पाव कटोरी मेवे की कतरन (बादाम-पिस्ता, काजू), 3 बड़े चम्मच शक्कर, 3-4 लच्छे केसर दूध में भीगे हुए, 1/2 चम्मच इलायची पावडर।

विधि :
खीर बनाने से एक-दो घंटे पूर्व चावल धोकर पानी में गला दें। दूध को मोटे तले वाले बर्तन में डालकर गैस पर चढ़ा दें। दूध में चार-पांच उबाल आने पर चावल का पूरा पानी निथार कर उसमें डाल दें। बीच-बीच में चलाती रहें और गाढ़ा होने तक पकाएं।
चावल पकने के बाद शक्कर डाल दें और शक्कर पिघलने तक लगातार चलाती रहें, बीच में छोड़े नहीं। अब इसमें मेवे की कतरन और पिसी इलायची डाल दें। अब कटोरी में रखी भीगी केसर को मैश कर दें और उबलते खीर में डाल दें। खीर अच्छी गाढ़ी होने के पश्चात गैस बंद कर दें। तैयार गाय के दूध से बनी शाही खीर से पितरों को भोग लगाकर उनका आशीर्वाद लें।


शाही खीर

सामग्री :
2 लीटर गाढ़ा दूध, 50 ग्राम मावा, दो मुट्ठी बासमती चावल (एक-दो घंटे पूर्व पानी में गले हुए), पाव कटोरी मेवे की कतरन, चार बड़े चम्मच शक्कर, आधा चम्मच पिसी इलायची और 3-4 लच्छे केसर, चुटकी-भर मीठा पीला रंग।

विधि :

खीर बनाने के लिए दूध को गरम करके थोड़ा दूध औटाने तक पका लें। अब चावल का पूरा पानी निथार कर दूध में डाल दें। बीच-बीच में चलाती रहें। चावल पकने के बाद शक्कर डाल दें और शक्कर गलने तक दूध को लगातार चलाती रहें। बीच में छोड़े नहीं।

अब मावे को किसनी से कद्दूकर कर लें और खीर में मिला दें। जब खीर अच्छी तरह गाढ़ी हो जाए तब उसमें मेवे की कतरन, इलायची डालें। एक अलग कटोरी में थोड़ा-सा गरम दूध लेकर केसर 5-10 मिनट के लिए उसमें गला दें। तत्पश्चात केसर घोंटें और उबलती खीर में डाल दें। अब तैयार खीर की 5-7 उबाली लेकर गैस बंद कर दें। अब तैयार बासमती चावल की शाही खीर से पितृ देव को भोग लगा कर अपनी मनोकामना पूर्ण करने की विनती करें।


मखाना खीर

सामग्री :

1 लीटर दूध, 2 कटोरी मखाने, 4 चम्मच शकर, 2 छोटे चम्मच घी, बादाम-काजू की कतरन, किशमिश, 1/2 कटोरी बूरा (सूखा नारियल का), इलायची पावडर 1/2 चम्मच, दूध में भिगोएं हुए और 5-6 केसर के लच्छे।

विधि :

एक कड़ाही में घी गरम करके मखानों को भून लें। तत्पश्चात भूनें मखानों को प्लेट में निकाल कर ठंडे होने दें, फिर उसको टुकड़े कर लें। अब दूध को उबलने दें। जब दूध उबल जाए तो उसमें मखाने डालकर पकाएं और शकर डालें और गाढ़ा होने तक पकाएं। अब उसमें काजू-बादाम की कतरन, नारियल का बूरा, किशमिश, इलायची और केसर को घोंट कर डालें। 1-2 उबाल आने पर गैस बंद कर दें। अब इस खीर से पितरों को भोग लगाएं।



मेवे की शाही खीर

सामग्री :

1 लीटर दूध, 2 कटोरी मखाने, 4 चम्मच शकर, 2 चम्मच घी, बादाम-काजू की कतरन, किशमिश, पाव कटोरी बूरा (सूखा नारियल का), इलायची पावडर आधा चम्मच और 5-6 केसर के लच्छे (दूध में भिगोएं हुए)।

विधि :

दूध को उबलने रख दें। अब एक कड़ाही में घी गरम करें और मखानों को भून लें और प्लेट में निकाल कर ठंडे होने दें। अब जब दूध उबल जाए तो उसमें मखाने डालकर पकाएं और शकर डाल दें। इसे गाढ़ा होने तक पकाएं।

अब इसमें काजू-बादाम की कतरन, नारियल का बूरा, किशमिश, इलायची और केसर को घोंट कर डालें और डालकर सर्व करें।



रसगुल्ला खीर

सामग्री :

डेढ़ लीटर दूध, आधा कटोरी कस्टर्ड पावडर, 100 ग्राम मावा, 250 ग्राम छोटे वाले रसगुल्ले, 2 कटोरी शक्कर, आधा कटोरी चारौली, किशमिश, पाव कटोरी कटे बादाम व पिस्ता, थोड़ी-सी केसर, 1 चम्मच इलायची पावडर।
विधि :

सबसे पहले दूध को उबलने रख दें। जब वह गाढ़ा होने लगे तब उसमें शक्कर, कस्टर्ड पावडर, मावा व केसर पीसकर डाल दें। 10 मिनट चलाकर आंच से उतार लें। फिर रसगुल्ले डाल दें व बाकी सभी सामग्री डालकर उतार लें। ठंडी होने पर रसगुल्ला-खीर से भोग लगाएं।





और भी पढ़ें :