टेनिस खिलाड़ी भूपति अभी भी अपने आपको मानते हैं डेविस कप के कप्तान

Last Updated: गुरुवार, 7 नवंबर 2019 (07:37 IST)
नई दिल्ली। भारत के अनुभवी टेनिस खिलाड़ी महेश भूपति ने बुधवार को सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए अब भी खुद को भारत की टीम का गैर खिलाड़ी कप्तान होने का दावा किया।

भूपति ने कहा कि वह इस बात को स्वीकार नहीं करते हैं कि उनकी जगह किसी और को डेविस कप टीम का गैर खिलाड़ी कप्तान चुना गया है और उन्हें इस पद से हटा दिया गया है। उन्होंने कहा कि वह अभी भी उपलब्ध हैं और अभी भी कप्तान हैं। उल्लेखनीय है कि अखिल भारतीय टेनिस संघ (आएटा) ने सोमवार को पूर्व खिलाड़ी तथा राष्ट्रीय टेनिस महासंघ के चयनकर्ता प्रमुख रोहित राजपाल को अपना गैर खिलाड़ी कप्तान बनाने की घोषणा की थी।

पूर्व टेनिस स्टार ने ट्विटर पर बुधवार को कहा, वे सभी लोग जिन्हें मेरे विचारों की बहुत चिंता है उन्हें मैं बताना चाहता हूं कि मैं केवल इतना जानता हूं कि आएटा के महासचिव हिरण्मय चटर्जी ने सोमवार को मुझे फोन पर बताया था कि रोहित को मेरी जगह कप्तान चुना गया है क्योंकि मैं ओसनिया ग्रुप ए मुकाबले के लिये पाकिस्तान जाने में सहज नहीं था, (मैं इस देश को प्यार करता हूं और पहले भी वहां जा चुका हूं - लेकिन इस बार नहीं)।

उन्होंने साथ ही लिखा, सोमवार के बाद से आएटा ने मुझसे संपर्क नहीं किया है और न ही खिलाड़ियों के सुरक्षा चिंता जताने के बाद आईटीएफ के तटस्थ स्थान चुने जाने के बाद से मेरी कोई बात हुई है। मैं बताना चाहता हूं कि मैं उपलब्ध हूं और अभी भी कप्तान हूं-जब तक की मुझे कुछ और नहीं कहा जाता है। मुझे जब भी कुछ और पता चलेगा मुझे बताने में खुशी होगी।

इस बीच अन्य टेनिस खिलाड़ी और भूपति के करीबी माने जाने वाले रोहन बोपन्ना ने भी आएटा के नया कप्तान चुने जाने के फैसले पर हैरानी जताई है। उन्होंने ट्वीट में लिखा था कि उन्हें हैरानी हो रही है कि आएटा ने अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ के मैच के स्थल बदले जाने से पहले ही अपना नया कप्तान चुन लिया।

वहीं अखिल भारतीय टेनिस संघ ने खिलाड़ियों को संस्था पर सवाल उठाने के लिए लताड़ा है। आएटा ने कहा है कि प्रशासनिक मामलों में लिए जाने वाले फैसलों में खिलाड़ियों का दखल नहीं होना चाहिये। चटर्जी ने साथ ही कहा कि उन्होंने भूपति को कप्तान बदले जाने की जानकारी दे दी है और किसी नियुक्ति का फैसला समिति द्वारा लिया जाता है न कि खिलाड़ियों द्वारा। ऐसे में उन्हें सवाल उठाना निंदनीय है।

भारत और पाकिस्तान के बीच 29 और 30 नवंबर को डेविस कप एशिया ओसनिया ग्रुप ए का मुकाबला खेला जाना है जो पहले इस्लामाबाद में होना था लेकिन खिलाड़ियों के सुरक्षा की चिंताओं के बाद वैश्विक संस्था ने इसे तटस्थ स्थल पर कराने का फैसला किया है। नए स्थान को चयन करने का फैसला पाकिस्तान के पास होगा।


और भी पढ़ें :