मीराबाई का ओलंपिक खेलना तय, युवा जेरेमी भी कर सकते हैं क्वालीफाई

पुनः संशोधित शुक्रवार, 20 मार्च 2020 (19:02 IST)
नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के चलते भारोत्तोलन का भले ही अस्त व्यस्त हो गया हो लेकिन भारत की चानू का टोक्यो में खेलना तय है जबकि युवा जेरेमी लालरिन्नुगा भी कर सकती है।

पूर्व विश्व चैम्पियन चानू इस समय महिलाओं के 49 किलो विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है। आखिरी क्वालीफाइंग टूर्नामेंट एशियाई चैंपियनशिप कोरोना वायरस के कारण रद्द हो गया था। नए क्वालीफिकेशन नियमों के तहत उसने अनिवार्य 6 में से 5 टूर्नामेंटों में भाग ले लिया है।

अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ के कार्यकारी बोर्ड की 17 और 18 मार्च को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में आईओसी को ओलंपिक क्वालीफाइंग टूर्नामेंटों की जानकारी दी।
सूत्रों ने कहा कि इसमें यह भी कहा गया कि कोविड-19 महामारी के कारण पांचों उपमहाद्वीपीय चैंपियनशिप रद्द होने के कारण क्वालीफिकेशन प्रक्रिया बंद की जा सकती है।

इसके मायने है कि मौजूदा विश्व रैंकिंग के आधार पर ओलंपिक क्वालीफिकेशन स्थान तय होंगे। आईओसी अंतरराष्ट्रीय भारोत्तोलन महासंघ के सुझावों पर अंतिम फैसला लेगा।

भारतीय भारोत्तोलन महासंघ के महासचिव सहदेव यादव ने कहा, ‘मीराबाई का ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करना तय है। वह फिलहाल विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है। विश्व रैंकिंग में शीर्ष 8 में शामिल खिलाड़ियों को क्वालीफिकेशन अवधि बीत जाने के बाद टोक्यो ओलंपिक में प्रवेश मिलेगा।’
उन्होंने कहा, ‘उसने पांच क्वालीफाइंग टूर्नामेंटों में भाग लिया लेकिन ताशकंद में एशियाई चैंपियनशिप रद्द कर दी गई थी। मुझे लगता है कि और क्वालीफाइंग टूर्नामेंट नहीं होंगे और विश्व रैंकिंग के आधार पर ही तय होगा।’



और भी पढ़ें :