गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. अन्य खेल
  3. समाचार
  4. Harmanpreet Singh clinches the best Hockey player title second year in a trot
Written By
Last Updated: शुक्रवार, 7 अक्टूबर 2022 (18:04 IST)

हरमनप्रीत को फिर मिला प्लेयर ऑफ द इयर अवार्ड, परिवार ने ऐसे मनाया जश्न (Video)

भारतीय स्ट्राइकर हरमनप्रीत सिंह को शुक्रवार को यहां लगातार दूसरी बार पुरूष वर्ग में एफआईएच का वर्ष का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया।

हरमनप्रीत लगातार वर्षों में पुरूष वर्ग में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीतने वाले चौथे खिलाड़ी हैं, वह इस तरह नीदरलैंड के तेयून डि नूजीयर, आस्ट्रेलिया के जेमी ड्वेयर और बेल्जियम के आर्थर वान डोरेन के साथ इस एलीट सूची में शामिल हो गये हैं।

एफआईएच ने एक बयान में कहा, ‘‘हरमनप्रीत एक आधुनिक युग के हॉकी सुपरस्टार हैं। वह शानदार डिफेंडर हैं जिनमें प्रतिद्वंद्वी को पछाड़ने के लिय सही समय पर सही जगह पहुंचने की बेहतरीन क्षमता है। ’’
इसमें कहा गया, ‘‘उसकी ‘ड्रिब्लिंग’ काबिलियत शानदार है। वह काफी गोल भी बनाता है। अब उन्हें लगातार दूसरे साल एफआईएच का वर्ष का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया है। ’’

हरमनप्रीत (26 वर्ष) को कुल 29.4 अंक मिले, उनके बाद थिएरी ब्रिंकमैन के 23.6 और टॉम बून के 23.4 अंक हैं।
भारतीय उप कप्तान हरमनप्रीत ने एफआईएच हॉकी प्रो लीग 2021-22 में 16 मैचों में 18 गोल दागे हैं जिसमें दो हैट्रिक भी शामिल हैं।

इन 18 गोल की बदौलत वह भारत के लिये सत्र के अंत में सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी रहे और उने नाम प्रो लीग के एक ही सत्र में सबसे ज्यादा गोल करने का रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया है।हरमनप्रीत पिछले साल ढाका में एशियाई चैम्पियंस ट्राफी में शानदार फॉर्म में थे जिसमें उन्होंने छह मैचों में आठ गोल दागे थे जिसमें प्रत्येक मैच में एक गोल शामिल था जिससे भारत पोडियम स्थान पर रहा था।

उन्होंने बर्मिंघम 2022 राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीतने वाली भारतीय टीम के लिये भी अहम भूमिका अदा की थी।महिला वर्ग में नीदरलैंड की फेलिस अलबर्स (22 वर्ष) को एफआईएच का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया।वह महिला वर्ग में जर्मनी की नताशा केलर (1999) के बाद एफआईएच का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार जीतने वाली सबसे युवा खिलाड़ी भी बन गयी।

अलबर्स के कुल अंक 29.1 हैं, उन्होंने मारिया ग्रानाटो (26.9 अंक) को पछाड़ा। ऑगस्टिना गोर्जेलानी 16.4 अंक से तीसरे स्थान पर रहीं।हरमनप्रीत सिंह  की इस उपलब्धि पर हॉकी इंडिया ने अपने ट्विटर हैंडल पर परिवार के जश्न का वीडियो अपलोड किया है।
इससे पहले भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कोच ग्राहम रीड और महिला टीम की कोच जेनेक शॉपमैन ने अपने-अपने वर्ग में साल 2021/22 के सर्वश्रेष्ठ कोच का पुरस्कार जीता है। अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने गुरुवार को इसकी घोषणा की।

एफआईएच ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत के शानदार प्रदर्शन के लिये जेनेक शोपमैन को साल की सर्वश्रेष्ठ महिला टीम कोच का पुरस्कार दिया। भारतीय महिलाओं ने ग्रेट ब्रिटेन के खिलाफ कांस्य पदक मैच 4-3 से हारने के बाद 2020 ओलंपिक में चौथा स्थान हासिल किया था।

इसके अलावा भारत ने 2021/22 सत्र में पहली बार एफआईएच हॉकी महिला प्रो लीग में हिस्सा लेते हुए जर्मनी, नीदरलैंड, स्पेन और अर्जेंटीना जैसी टीमों को हराकर तीसरा स्थान हासिल किया था।
इस समय गुजरात के राजकोट में राष्ट्रीय खेलों का आनंद ले रहीं शोपमैन ने कहा, "यह पुरस्कार प्राप्त करना एक सम्मान की बात है। मैं हॉकी इंडिया, खेल मंत्रालय, ओडिशा सरकार, भारतीय खेल प्राधिकरण और अपने परिवार एवं स्टाफ को उनके समर्थन के लिये धन्यवाद देना चाहती हूं। सबसे अधिक धन्यवाद टीम को जाता है क्योंकि यह सब उन्हीं की बदौलत है। खिलाड़ी कड़ी मेहनत करते हैं, सीखना चाहते हैं और हमेशा अपना समर्पण दिखाना चाहते हैं। उनका कोच बनना बहुत खुशी की बात है।"

इस पुरस्कार के लिये शोपमैन का सामना जैमिलन मुलडर्स (नीदरलैंड), कैटरीना पॉवेल (ऑस्ट्रेलिया), राउल एहरेन (बेल्जियम) और एड्रियन लॉक (स्पेन) से हुआ।

शोपमैन ने बड़े-बड़े नामों के बीच पुरस्कार जीतने पर कहा, "जब आप दुनिया के कुछ बेहतरीन कोचों के खिलाफ होते हैं तो पुरस्कार जीतना वास्तव में बहुत आश्चर्यजनक लगता है। यह पुरस्कार इस बात को साबित करता है कि खिलाड़ी मैदान पर क्या करने में सक्षम थे और मुझे खुशी है कि टीम अच्छी तरह से प्रगति कर रही है।"
दूसरी ओर, ग्राहम रीड ने भी टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारतीय पुरुष टीम के शानदार प्रदर्शन के दम पर एफआईएच की ओर से साल के सर्वश्रेष्ठ पुरुष टीम कोच का पुरस्कार हासिल किया। भारतीय पुरुषों ने देश को 41 साल बाद हॉकी का ओलंपिक पदक दिलाते हुए टोक्यो ओलंपिक में ऐतिहासिक कांसे का तमगा जीता था। भारतीय टीम ने इसके बाद एफआईएच हॉकी प्रो लीग 2021/22 में तीसरा स्थान हासिल किया। भारत ने अपने पूरे अभियान में 62 गोल किए, जो प्रो लीग के इतिहास में किसी टीम द्वारा जमाए गए सर्वाधिक गोल हैं।

ग्राहम रीड की टीम ने अपने दर्शनीय प्रदर्शन को आगे बढ़ाते हुए बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भी रजत पदक अपने नाम किया था।

वर्तमान में राष्ट्रीय खेल प्राधिकरण (साई) बेंगलुरु में आगामी एफआईएच हॉकी प्रो लीग के लिए टीम के साथ तैयारी कर रहे रीड ने कहा, "मैं बस टहलने जा रहा था और लड़कों ने मुझे जिम में आश्चर्यचकित कर दिया। मुझे बिल्कुल पता नहीं था, यहां तक ​​​​कि मेरी पत्नी भी मुझे इस खबर के साथ चौंकाने की योजना में टीम के साथ शामिल थी।"

रीड ने टीम के प्रदर्शन पर खुशी जाहिर करते हुए कहा, "मुझे लगता है कि ये पुरस्कार इस बात का गवाह है कि टीम कैसे खेलती है, न कि मेरी व्यक्तिगत उपलब्धियों का। मुझे लगता है कि यही वह माहौल है जिसे मैं टीम में बढ़ावा देने की कोशिश करता हूं। पुरस्कार जीतना शानदार है लेकिन मुझे लगता है कि यह पूरी टीम ने हासिल किया है।”

साल के सर्वश्रेष्ठ कोच पुरस्कार के लिए ग्राहम का सामना जेरोएन डेलमी (नीदरलैंड), मिशेल वैन डेन ह्यूवेल (बेल्जियम), गैरेथ इविंग (दक्षिण अफ्रीका), फ्रेडरिक सोयेज़ (फ्रांस) से था। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदियों के बारे में कहा, “अन्य टीमों के कोच विश्वस्तरीय हैं। उनका चीजों को करने का अपना तरीका होता है और उन कोचों के बीच जीतना एक बड़े सम्मान की बात है।"