Covid-19 मरीजों का उपचार कर रही है पूर्व ओलंपिक चैंपियन डॉ जोयसे

Last Updated: सोमवार, 30 मार्च 2020 (19:30 IST)
एम्सटरडम। 2012 में स्वर्ण पदक हासिल करने वाली नीदरलैंड की हॉकी टीम की गोलकीपर जोयसे सोमब्रोएक अब डॉक्टर के तौर पर देश में कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में जुटी हैं।
लंदन ओलंपिक में स्वर्ण पदक के अलावा उनके पास 2014 में विश्व चैंपियनशिप का स्वर्ण पदक भी है। वह लगातार ‘सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर’ भी रही थी। 26 साल की उम्र में खेल से संन्यास लेने के बाद उन्होंने एम्सटरडम में व्रिजे यूनिवर्सिटी से मेडिकल डिग्री पूरी की।

अब वह हेजमट सूट (सुरक्षा कवच) पहनकर वायरस की चपेट में आए मरीजों का उपचार कर रही हैं। नीदरलैंड के लिए 2010 से 2016 के बीच 117 मैच खेलने वाली डॉक्टर जोयसे ने एफआईएच वेबसाइट से कहा, ‘जब मैंने दो साल पहले पढ़ाई खत्म की तो मैंने इंटरनल मेडिसिन, पल्मोनरी, कार्डियोलॉजी और गैस्ट्रो-इंटेस्टिनल विभाग में काम करना शुरू किया।’

उन्होंने कहा, ‘इसके बाद मैंने एम्सटरडम में बड़े अस्पताल में आपात कक्ष में काम करके और अनुभव हासिल किया।’ के स्थगित होने के बारे में उन्होंने कहा कि यह फैसला सही था।
उन्होंने कहा, ‘मैं समझती हूं कि यह मुश्किल फैसला था। एक या दो महीने पहले मैंने भी सोचा था कि इनका आयोजन किया जा सकता था लेकिन वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है।’




और भी पढ़ें :