सिंधू का स्पष्टीकरण, सहमति से मैं लंदन में, परिवार में कोई मतभेद या कोच से कोई समस्या नहीं

Last Updated: मंगलवार, 20 अक्टूबर 2020 (15:35 IST)
नई दिल्ली। पीवी सिंधू ने मंगलवार को कहा कि वह अपने और कोचों की सहमति से लंदन में हैं और इस तरह उन्होंने इनमें से किसी के भी साथ मतभेद की खबरों को किया। सिंधू के पिता ने हालांकि हैदराबाद में राष्ट्रीय शिविर से उनके खुश नहीं होने के बारे में कहा।
ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू पिछले 10 दिन से लंदन में हैं और सोमवार को उन्होंने सोशल मीडिया पर गेटोरेड खेल विज्ञान संस्थान (जीएसएसआई) की खेल पोषण विशेषज्ञ रेबेका रेंडेल के साथ तस्वीर पोस्ट की। सिंधू जीएसएसआई में ही ट्रेनिंग कर रही हैं। एक में दावा किया गया है कि सिंधू ने 'परिवार में तनाव' के कारण देश छोड़ा है लेकिन इस स्टार खिलाड़ी ने इन अटकलों को खारिज किया।
सिंधू ने मंगलवार को ट्विटर पर डाले बयान में कहा कि मैं कुछ दिन पहले लंदन आई जिससे कि अपने जीएसएसआई के साथ अपने पोषण और उबरने से जुड़ी चीजों पर काम कर सकूं। मैं अपने माता-पिता की सहमति से यहां आई हूं और इस संदर्भ में परिवार में कोई मतभेद नहीं है।

उन्होंने कहा कि मुझे अपने माता-पिता से कोई समस्या क्यों होगी जिन्होंने मेरे लिए अपने जीवन में बलिदान दिए। मेरा परिवार एक-दूसरे के काफी करीब है और वे हमेशा मेरा समर्थन करते हैं। मैं अपने परिवार के सदस्यों के रोजाना संपर्क में हूं।
इससे पहले सिंधू के पिता पीवी रमन्ना ने कहा था कि उनकी बेटी बैडमिंटन विश्व महासंघ (बीडब्ल्यूएफ) के कैलेंडर के अगले साल होने वाले एशियाई चरण की तैयारी के लिए लंदन में है, क्योंकि हैदराबाद में चल रहे राष्ट्रीय शिविर में वह उचित अभ्यास नहीं कर पा रही थी।

कोविड-19 महामारी के कारण बीडब्ल्यूएफ को विश्व टूर फाइनल्स (27-31 जनवरी) और 2 एशिया ओपन (2-17 जनवरी और 19-24 जनवरी) को अगले साल जनवरी में बैंकॉक स्थानांतरित कराने को बाध्य होना पड़ा। रमन्ना ने कहा कि यह स्टार खिलाड़ी राष्ट्रीय शिविर में अपनी ट्रेनिंग से खुश नहीं थी।
उन्होंने कहा कि यहां वे उचित अभ्यास नहीं कर पा रही थीं। एशियाई खेल 2018 के बाद गोपी (मुख्य पुलेला गोपीचंद) ने उसकी ट्रेनिंग में रुचि नहीं दिखाई। उन्होंने उसके साथ ट्रेनिंग के लिए उपयुक्त अभ्यास जोड़ीदार मुहैया नहीं कराया। रमन्ना ने दावा किया कि वह स्तरीय अभ्यास नहीं कर पा रही थी और अपने साथ हो रहे व्यवहार से तंग आ चुकी थी।
संपर्क करने पर गोपीचंद ने पुष्टि की कि सिंधू ने लंदन जाने के बारे में उन्हें सूचित किया था लेकिन उन्होंने रमन्ना की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया।गोपीचंद ने कहा कि हमारे पास यही सूचना है कि वह गेटोरेड ट्रेनिंग अकादमी गई है। वहां उनका ट्रेनिंग संस्थान है। मुझे कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी नहीं है।
उसके पिता क्या कह रहे हैं इस पर मैं प्रतिक्रिया नहीं देना चाहता, अगर सिंधू कुछ कहती है तो मैं प्रतिक्रिया दूंगा।

सिंधू ने हालांकि बाद में कहा कि उनके और पूर्व ऑल इंग्लैंड चैंपियन गोपीचंद के बीच कोई समस्या नहीं है, साथ ही मुझे अपने कोच गोपीचंद या अकादमी में ट्रेनिंग सुविधाओं से कोई समस्या नहीं है। (भाषा)



और भी पढ़ें :