बलात्कार नहीं कर पाए तो 18 साल की बास्केटबॉल खिलाड़ी को फेंका स्टेडियम की छत से

पुनः संशोधित शुक्रवार, 19 अगस्त 2022 (16:55 IST)
हमें फॉलो करें
चंडीगढ़: के मोगा जिले में 18 साल बास्केटबॉल खिलाड़ी के साथ तीन युवकों ने कथित रूप से बलात्कार करने की कोशिश की और उसे स्टेडियम की छत से धक्का दे दिया, जिसके चलते युवती के शरीर के कई अंगों में ‘फ्रैक्चर’ हो गया। पुलिस ने गुरुवार को बताया कि खिलाड़ी को लुधियाना के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसके दोनों पैरों और जबड़े में आई चोटों का वहां उपचार किया रहा है। उन्होंने बताया कि घटना 12 अगस्त को हुई थी और तब से तीनों आरोपी फरार हैं।

पीड़िता के पिता द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के मुताबिक, उनकी बेटी प्रैक्टिस करने के लिए मोगा स्थित एक स्टेडियम में गई थी। जतिन कांडा नामक एक आरोपी ने स्टेडियम में खिलाड़ी के साथ बलात्कार करने की कोशिश की।

जब उसने इसका विरोध किया और भागने की कोशिश की, तो कांडा ने उसे कथित रूप से करीब 25 फुट की ऊंचाई से धक्का दे दिया जिसके बाद उसे (खिलाड़ी को) शरीर के कई अंगों में गंभीर चोटें आईं।

कांडा और उसके दो साथियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 307 (हत्या की कोशिश) और 376 (बलात्कार) के तहत मामला दर्ज किया गया है। मोगा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गुलनीत खुराना ने बृहस्पतिवार को बताया कि आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

पीड़िता का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि बास्केटबॉल खिलाड़ी के दोनों पांव और जबड़ों में फ्रैक्चर हैं। उसकी दो बार सर्जरी हुई है, लेकिन वह पूरी तरह होश में नहीं आ सकी है और बोल भी नहीं पा रही है। वहीं पीड़िता के पिता का आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज करने में देरी की। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी बुरी तरह घायल है और बोलने की स्थिति में नहीं है। इसके बावजूद पुलिस ने हाल ही में उसका बयान दर्ज किया है।(भाषा)



और भी पढ़ें :