पहली बार पैरालंपिक में शामिल हुआ बैडमिंटन, इस भारतीय खिलाड़ी को मिली एकमात्र जीत

Badminton tournament
Last Updated: बुधवार, 1 सितम्बर 2021 (22:27 IST)
टोक्यो: लगातार भारतीय खेल प्रेमियों के बीच लोकप्रिय होने वाला खेल बन गया है। साल 2012 में साइना नेहवाल ने कांस्य पदक जीता था तब से इस खेल को कई युवा फॉलो करने लग रहे हैं। रियो ओलंपिक में पीवी सिंधु के फाइनल मैच को तो क्रिकेट मैच की तरह लोग एक टक देख रहे थे। इस टोक्यो ओलंपिक में भी पीवी सिंधु कांस्य पदक जीतने में सफल रही।

में भी पहली बार बैडमिंटन खेल शामिल किया गया है। ऐसे में भारतीय फैंस चाहते हैं कि ओलंपियन्स की तरह पैरालंपियन्स भी इस खेल में कमाल दिखाएं। बैडमिंटन का पहला दिन भारत के परिपेक्ष में कुछ इस तरह का रहा।
एकल मैच में भगत जीते, पलक दोनों मैच हारी

दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी ने बुधवार को यहां तोक्यो पैरालंपिक खेलों के पुरूष एकल वर्ग में शानदार शुरूआत की जबकि युवा पलक कोहली महिला एकल और मिश्रित युगल दोनों मैच हार गई।

मौजूदा विश्व चैम्पियन भगत ने भारत के ही मनोज सरकार को पुरूष एकल ग्रुप ए क्लास एसएल 3 के पहले मैच में 21 . 10, 21 . 23, 21 . 9 से हरा दिया ।अब उनका सामना उक्रेन के अलेक्जेंडर चिरकोव से होगा । मनोज भी शुक्रवार को चिरकोव से ही खेलेंगे ।
भगत ने जीत के बाद कहा ,‘‘ मनोज और मैं एक दूसरे के खेल को भली भांति जानते हैं । उसने शानदार खेल दिखाया और मुझे खुशी है कि यह मैच जीत सका ।’’

इससे पहले कोहली अपने दोनों मैच हार गई। उन्हें महिला एकल ग्रुप ए क्लास एसयू5 मैच में जापान की अयाको सुजुकी ने महज 19 मिनटमें 21 . 4, 21 . 7 से हरा दिया । बायें हाथ में जन्म से ही विकार झेल रही कोहली का सामना अब तुर्की की जेहरा बगलार से होगा ।

वहीं भगत और कोहली की मिश्रित युगल जोड़ी को ग्रुप बी के अपने पहले मैच में लुकास माजुर और फॉस्टीन नोएल की दूसरी वरीय जोड़ी के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा।
भागत और पलक मिश्रित युगल में पहला मैच हारे

प्रमोद भगत और पलक कोहली की भारत की मिश्रित युगल जोड़ी को बुधवार को यहां तोक्यो पैरालंपिक खेलों की बैडमिंटन प्रतियोगिता के ग्रुप बी के अपने पहले मैच में लुकास माजुर और फॉस्टीन नोएल की दूसरी वरीय जोड़ी के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा।

एसएल3-एसयू5 वर्ग में चुनौती पेश कर रहे भगत और पलक को योयोगी राष्ट्रीय स्टेडियम में फ्रांस की जोड़ी के खिलाफ 43 मिनट में 9-21 21-15 19-21 से हार झेलनी पड़ी।

भारतीय जोड़ी की शुरुआत खराब रही और पहले ब्रेक के समय वे 5-11 से पीछे थे। फ्रांस की जोड़ी ने इसके बाद दबदबा बनाए रखा और पहला गेम आसानी से जीत लिया।

दूसरे गेम में भारतीय जोड़ी ने बेहतर प्रदर्शन किया और 13-11 से बढ़त बनाने में सफल रही। माजुर और नोएल ने इसके बाद एक अंक जुटाया लेकिन भारतीय जोड़ी ने लगातार सात अंक के साथ ब्रेक प्वाइंट हासिल किए। फ्रांस की जोड़ी ने दो ब्रेक प्वाइंट बचाए लेकिन भगत और पलक ने अगला अंक जीतकर मुकाबला 1-1 से बराबर कर दिया।
दूसरी वरीय जोड़ी ने तीसरे और निर्णायक गेम में अच्छी शुरुआत करते हुए 13-9 की बढ़त बनाई लेकिन भगत और पलक शानदार वापसी करते हुए 15-14 की बढ़त बनाने में सफल रहे।

माजुर और नोएल ने हालांकि एक बार फिर बढ़त बनाई और गेम तथा मैच जीत लिया।इस ग्रुप की एक अन्य जोड़ी थाईलैंड के सिरिपोंग टीमारोम और सेनसुपा निपादा की है।

गत विश्व चैंपियन भगत पुरुष एकल एसएल3 में भी चुनौती पेश करेंगे जबकि पलक को पारूल परमार के साथ महिला युगल (एसएल3-एसयू5) और महिला एकल (एसयू5) में भी हिस्सा लेना है।



और भी पढ़ें :