पाक हॉकी कप्तान को नहीं भाये भारतीय दर्शक

कराची| भाषा|
हमें फॉलो करें
FILE
पाकिस्तान हॉकी महासंघ और राष्ट्रीय कप्तान जीशान अशरफ का मानना है कि कॉमनवेल्गेम्में टीम के खराब प्रदर्शन का एक कारण दिल्ली में दर्शकों का बर्ताव भी रहा जो मुंबई आतंकी हमले के बाद ‘अशिष्ट’ हो गए हैं।


पीएचएफ सचिव आसिफ बाजवा ने कहा कि टीम ने उन्हें यही बताया कि 2008 में मुंबई पर हुए आतंकी हमले के बाद से उन्हें भारतीय दर्शकों से अधिक अपमान और अशिष्टता झेलना पड़ रहा है।

उन्होंने कहा अब खिलाड़ियों के लिए भारत में खेलना अधिक मुश्किल हो गया है। दर्शकों से मिल रहे बर्ताव के कारण उन पर अधिक दबाव बनता है।

फरवरी मार्च में दिल्ली में हुए विश्व कप में बारहवें स्थान पर रही पाकिस्तान टीम के मैनेजर बाजवा ही थे। उन्हें टीम के खराब प्रदर्शन के बाद पद से हटा दिया गया था। राष्ट्रमंडल खेलों में पाकिस्तान छठे स्थान पर रहा।


बाजवा ने कहा कि खिलाड़ियों ने उन्हें बताया कि दर्शकों के बर्ताव के कारण उन पर काफी दबाव बना। उन्होंने कहा हमारे लिए यह निराशाजनक है। मैं बहाने नहीं बना रहा लेकिन हमारे खिलाड़ियों पर अब अधिक दबाव होता है।
अशरफ ने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान खिलाड़ियों को कई बार काफी अपमान और अभद्र भाषा का भी सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा खिलाड़ियों के लिए यह ज्यादती थी क्योंकि दर्शक उन्हें बार बार अहसास दिलाते रहे कि वे पाकिस्तानी हैं।

उन्होंने कहा मुंबई हादसे के बाद दर्शकों ने हमारे लिए भारत में कहीं भी खेलना मुश्किल कर दिया है। पूरे राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान हमारे साथ ऐसा ही हुआ जो दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि खेल तो खेल है। विश्व कप और राष्ट्रमंडल खेलों में भारत ने पाकिस्तान को हराया था।
अशरफ ने हालाँकि कहा कि उनकी टीम ने इतना खराब भी नहीं खेला। उन्होंने कहा हमने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अच्छा खेला और सिर्फ एक गोल से हारे जबकि उसी टीम ने भारत को आठ गोल से रौंदा।

एशियाई खेलों में हम निश्चित तौर पर अच्छा प्रदर्शन करेंगे। अगले साल चैम्पियंस ट्राफी भी भारत में होनी है और एफआईएच ने भारत और पाकिस्तान को वाइल्ड कार्ड से प्रवेश देने पर रजामंदी जता दी है। (भाषा)



और भी पढ़ें :