Pitru Paksha 2021 : श्राद्ध पक्ष में ना करें ऐसे काम

Pitru Paksha 2021

श्राद्ध पक्ष का आरंभ हो गया है। श्राद्ध पक्ष में अपने पितरों की संतुष्टि हेतु तथा उनकी अनंत तृप्ति हेतु, उनका शुभाशीर्वाद प्राप्त करने हेतु प्रत्येक मनुष्य को अपने पितरों का श्राद्ध अवश्य करना चाहिए।

जो लोग अपने पूर्वजों अर्थात पितरों की संपत्ति का उपभोग तो करते हैं, लेकिन उनका श्राद्ध नहीं करते, ऐसे लोग अपने ही पितरों द्वारा अभिशप्त होकर नाना प्रकार के दुखों का भाजन बनते हैं।

श्राद्ध करते समय अपराह्न का समय, कुशा, श्राद्धस्थली की स्वच्छता, उदारता से भोजन आदि की व्यवस्था और ब्राह्मण की उपस्थिति, तिल, चावल, जौ, जल, मूल (जड़युक्त सब्जी) और फल आदि कार्य और सामग्री का उपयोग करें। इस दिन पुत्री के पुत्र को भोजन, तिल और नेपाली कंबल ये चीजें शुद्धिकारक मानी गई हैं। अत: इनका ध्यान रखें। आगे जानिए क्या न करें।


श्राद्ध पक्ष में ना करें यह काम-

1. श्राद्ध के लिए उचित बातें- सफाई, शांत चित्त, क्रोध न करें और धैर्य से पूजन-पाठ (हड़बड़ी व जल्दबाजी नहीं) करें।
2. श्राद्ध में कदापि न करें- कुछ अन्न और खाद्य पदार्थ जो श्राद्ध में प्रयुक्त नहीं होते- मसूर, राजमा, कोदो, चना, कपित्थ, अलसी, तीसी, सन, बासी भोजन और समुद्र जल से बना नमक। भैंस, हिरणी, ऊंटनी, भेड़ और एक खुर वाले पशु का दूध भी वर्जित है, पर भैंस का घी वर्जित नहीं है।

3. श्राद्ध में दूध, दही और घी पितरों के लिए विशेष तुष्टिकारक माने जाते हैं।

4. श्राद्ध किसी दूसरे के घर में, दूसरे की भूमि में कभी नहीं किया जाता है। जिस भूमि पर किसी का स्वामित्व न हो, सार्वजनिक हो, ऐसी भूमि पर श्राद्ध किया जा सकता है।
5. तेल मालिश, दाढ़ी, बाल न कटवाएं, ये कार्य ना करें।

6. ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करें।




और भी पढ़ें :