0

आज दूल्हा बने राजा महाकालेश्वर का सप्त धान श्रृंगार, जानिए शिव जी को सप्तधान चढ़ाने के 10 लाभ

बुधवार,मार्च 2, 2022
Saptdhan shringar
0
1
महाशिवरात्रि के पर्व पर भगवान शिव को चढ़ाएं ये खास 10 फल। जानिए सूची- fruit name in hindi
1
2
शिव के ज्योतिर्लिंग की उत्पत्ति फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को हुई थी इसलिए फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को आने वाली शिवरात्रि को "महाशिवरात्रि" की मान्यता प्रदान की गई है।
2
3
Maha Shivratri 2022: महाशिवत्रि के पर्व पर भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था। इस दिन रात्रि में शिवजी बरात लेकर राजा हिमवान और रानी मैनावती के यहां पहुंचे थे। महा शिवरात्रि पर शिवजी की पूजा में विशेष सावधानियां रखना चाहिए। 10 ऐसी चीजें हैं ...
3
4
महाशिवरात्रि 2022 : ग्वालियर से लगभग 80 किलोमीटर दूर और मुरैना से करीब 50 किलोमीटर दूर स्थति ग्वालियर और भिंड सीमा पर रिठौरा क्षेत्र के जंगलों में बहुत ही प्राचीन और ऐतिहासिक नरेश्वर शिव मंदिरों ( Nareshwar Shiva Temple Morena) की एक श्रृंखला मौजूद ...
4
4
5
Mahashivratri 2022: महाशिवरात्रि 2022 पर बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में शिव ज्योति अर्पणम महोत्सव आयोजित किया जा रहा है। यह महोत्सव दिवाली के दीपोत्सव की (Ujjain Mahashivratri Deepotsav 2022) तरह होगा। महा शिवरात्रि पर महाकालेश्वर मंदिर सहित संपूर्ण ...
5
6
Nageshvara Jyotirling Gujarat : गुजरात के द्वारिकापुरी धाम से 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित 12 ज्योतिर्लिंगों में से नागेश्वर ज्योतिर्लिंग पर महाशिव रात्रि के दिन श्रद्धालुओं की खासी भीड़ रहती है। यह स्थान गोमती द्वारका से बेट द्वारका जाते समय रास्ते ...
6
7
मृत्युंजय महाकाल की आराधना का मृत्यु शैया पर पड़े व्यक्ति को बचाने में विशेष महत्व है। खासकर तब जब व्यक्ति अकाल मृत्यु का शिकार होने वाला हो। इस हेतु एक विशेष जाप से भगवान महाकाल का लक्षार्चन अभिषेक किया जाता है- Mahashivratri Special mahakaleshwar ...
7
8
राजा चंद्रसेन को जब शिवजी की अनन्य कृपा से घटित इस घटना की जानकारी मिली तो वह भी उस शिवभक्त बालक से मिलने पहुँचा। अन्य राजा जो मणि हेतु युद्ध पर उतारू थे, वे भी पहुँचे। सभी ने राजा चंद्रसेन से अपने अपराध की क्षमा माँगी और सब मिलकर भगवान महाकाल का ...
8
8
9
इस बार का महाशिवरात्रि का पर्व बहुत ही खास है। शुभ मुहूर्त के साथ शुभ संयोग, शुभ ग्रह योग और राजयोग में होगा पूजन। इस दुर्लभ संयोग में भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह होगा। आओ जानते हैं 6 तरह के राजयोग, 7 शुभ मुहूर्त और शिव पूजन विधि।
9
10
महाशिवरात्रि पर्व 2022: मुहूर्त से लेकर महत्व तक और पूजा विधि से लेकर पौराणिक तथ्य तक सब एक साथ मिलेगा यहां
10
11
1 मार्च को महाशिवरात्रि है। यह (mahashivratri 2022) शिव जी का सबसे खास पर्व है। इस दिन की गई पूजा-अर्चना और मंत्र जाप से आरोग्य, धन-संपदा, ऐश्वर्य आदि की प्राप्ति होती है तथा अकाल मृत्यु टलती है।
11
12
maha shivratri 2022 shubh muhurat हम लाए हैं महाशिवरात्रि के सबसे उत्तम मुहूर्त और 4 प्रहर की पूजा के शुभ समय की सही जानकारी....
12
13
कहते हैं कि महाशिवरात्रि पर भगवान शंकर का माता पार्वती के साथ विवाह (Shiv parvati vivah) हुआ था। इसलिए रात में शंकर की बारात निकाली जाती है। रात में पूजा कर फलाहार किया जाता है। अगले दिन सवेरे जौ, तिल, खीर और बेल पत्र का हवन करके व्रत समाप्त किया ...
13
14
प्रेम शब्द में ढाई अक्षर होते हैं। जो दो पूर्ण और एक अधूरे शब्द से बना है। कहा जाता है कि प्रेम शब्द ही अपूर्ण है इसलिए हर किसी को यह पूर्णरूप से नहीं मिलता। परन्तु शिव जी और पार्वती जी की प्रेम कहानी अनेक कष्टों के पश्चात ही सही पर पूर्णता प्राप्त ...
14
15
शिवलिंग बनाओ चैलेंज (Make Shivling Challenge): महाशिवरात्रि 2022: शिवलिंग कई तरह से बनाए जाते हैं। मिट्टी, दही, बालू, जौ चावल, भस्म, गुड़, फल फूल आदि। आओ जानते हैं शिवलिंग किस तरह से (How to make Shivling) बनाए जाते हैं।
15
16
महाशिवरात्रि (Mahashivratri Mantra) शिव को प्रसन्न करने का दिन है। इस दिन चारों ओर धर्म का पवित्र वातावरण बन जाता है। अत: इस दिन का लाभ हम सभी को उठाना चाहिए। इस दिन जपे गए मंत्र असरकारी होते है, जो शिव जी को प्रसन्न करके उनका आशीर्वाद दिलाते हैं।
16
17
महाशिवरात्रि 2022: शिवरात्रि या महाशिवरात्रि पर भगवान शिव की विशेष पूजा होती है। इस दिन शिव मंदिर जाते वक्त रास्ते में श्रद्धालु शिवजी के जयकारे लगाते हुए शिव मंदिर जाते हैं। यूं तो शिवजी के 1008 नाम ही उनके जयकारे हैं लेकिन प्रमुख रूप से 10 प्रचलित ...
17
18
महाशिवरात्रि शिवरात्रि 2022: भगवान शिव से जुड़ा हर एक प्रतीक महत्वपूर्ण है। इन प्रतीक चिन्हों के घर में होने से वास्तु दोष दूर होता है और नकारात्मक शक्तियां भी दूर होती है। इन प्रतीक चिन्हों के कई गहरे आध्यात्मिक अर्थ भी है। आओ जानते हैं ऐसे कौनसे ...
18
19
Ujjain Mahashivratri Deepotsav 2022: उज्जैन, महाशिवरात्रि महाकाल नगरी। 1 मार्च 2022 को इस बार शिवरात्रि का पर्व भव्य पैमाने पर मनाया जाएगा। 1 मार्च को 'शिव ज्योति अर्पणम' महोत्सव आयोजित किया जा रहा है। जिस तरह दीपावली पर अयोध्या में 9.41 लाख दीये ...
19