भारत के लक्षद्वीप एक बार जरूर घूमने जाएं, 36 में 11 शानदार टापू पर करें सैर सपाटा

Lakshadweep Beach
अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: शनिवार, 1 जनवरी 2022 (17:35 IST)
हमें फॉलो करें
Lakshadweep Beach
Lakshadweep Beach: नदी या समुद्र में बने एक क्षेत्र विशेष को टापू कहते हैं जिसके चारों और जलराशि रहती है। भारत में कई महत्वपूर्ण टापू क्षेत्र है। कहते हैं कि विश्‍व में छोटे-बड़े मिलाकर लगभग 2 लाख से अधिक आईलैंड हैं। भारत में ही लगभग 1,000 से अधिक आईलैंड हैं। भारत में के अलावा अंदमान निकोबार, दमण दीप, पुडुचेरी, गोवा आदि कई टापू क्षेत्र हैं। सभी के चारों और समुद्र है और एक से एक शानदार बीच हैं। हालांकि इन सभी में आप लक्षद्वीप का चयन कर सकते हैं। आओ जानते हैं लक्ष्यद्वीप पर घुमने लायक 10 फेमस जगहें।


लक्ष्यद्वीप का परिचय : संस्कृत में लक्षद्वीप का अर्थ 'एक लाख द्वीप' है। करीब 32 वर्ग किलोमीटर लंबी भूमि 36 से अधिक छोट-छोटे टापूनुमा द्वीपों में बंटी हुई है, जिसे लक्ष्यद्वीप कहा जाता है। यह दुनिया के सर्वाधिक विहंगम उष्‍ण कटिबंधी द्वीपों में से एक है। यहां सुंदर सकरे और लंबे लैगून (समुद्र तल, कच्छ या खाड़ी) है। इन सभी द्वीपों पर मूंगे के रीफ, रेतीले तट और सुंदर प्राकृतिक संपदा देखते ही बनती है। यह प्रदूषण रहित वायु, स्‍वच्‍छ पानी और अतिथि सत्‍कार एवं सुविधा के लिए प्रसिद्ध स्थल है। यहां आप सी ड्रायविंग कर सकते हैं या चाहें तो प्राकृतिक आनंद और आराम का भरपूर मजा ले सकते हैं। यहां कि राजधानी कवरत्ती। यह क्षेत्र केरल के तटीय शहर कोच्चि से 220 से 440 किमी दूर, पन्ना अरब सागर में स्थित हैं। यहां पर आाप अक्टूबर से मार्च के बीच सैर सपाटा कर सकते हैं।

यहां के मुख्य समुद्री तट हैं:- कावरती तट, कल्‍पेनी तट, मिनीकॉय तट, कदामत तट, अगाती तट और बंगाराम तट।

1. कदामत तट : यदि आप स्वीमिंग के शौकिन हैं तो कदामत तट पहुंच जाएं। यहां सुंदर, उथला और सकरा लैगून है। लैगून के सामने नारियल के वृक्ष आपके अनुभव को चार चांद लगा देंगे। यह एक लंबा और चौड़ा तट है। यह स्‍थान अवकाश बिताने के लिए एक आदर्श स्थान है जो आपकी शहरी जीवन की भागमभाग से उपजी थकान को दूर कर देगा। इस क्षेत्र को कदमत और कड़मठ भी कहते हैं।
2. बंगाराम तट : यह अनोखा और सुंदर तट सुंदर लैगून का घर है और सचमुच यह निर्जन द्वीप है, जहां आबादी का नामोनिशान नहीं है। यहां के कोरल अनेक प्रकार के जलीय जीवन को आकर्षित करते हैं। यहां मंता और स्‍टिंग रे, शार्प और हरे तथा हॉक बिल कच्‍छुए पाए जाते हैं। आप यहां विंड सर्फिंग, पेरा सेलिंग, स्‍कूबा डा‍इविंग, वॉटर स्‍काइंग, स्‍नोर केलिंग का आनंद उठा सकते हैं। गोंद के आकार का यह द्वीप खासकर विदेशी पर्यटकों के लिए खुला है।
3. अगाती तट : नीले लैगून, हरा पानी, रंग-बिरंगी मछलियां, मूंगे, झूमते पाम के वृक्ष से सजा हुआ है अगाती तट। यहां समुद्र स्‍कूबा डायविंग, स्‍नोर केलिंग, केनोइंग, कांच जैसे तल वाली नावों में नौकायन और केयेकिंग करना अद्भुत है।

4. कल्‍पेनी तट : यह तट प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है। इस तट की विशेषता यहां कोरल के टुकड़ों का भंडार है, जो मन को मोह लेते हैं। यहां पर क्राफ्ट से समुद्री सफर का मजा लिया जा सकता है। कायक पर जल क्रीड़ाएं, नावों और पेडलबोट की सवारी का आनंद भी लिया जा सकता है।
5. मिनीकॉय तट : अर्धचंद्र के आकार का मिनीकॉय तट जहां है लक्ष्यद्वीप का सबसे बड़ा लैगून। मिनीकॉय तट में पर्यटकों के लिए अनेक सुविधाएं हैं।

6. कावरती तट : लक्ष्यद्वीप की प्रशासनिक राजधानी है कावरती। यह आर्की प्‍लेगो के मध्‍य में स्थित है। यह सुंदर शांत लैगून से परिपूर्ण और लंबा तट धूप सेंकने, तैराकी करने या वाटर राइडिंग करने के लिए आदर्श स्थान है। यहां नावें किराए पर मिलती हैं। आप यहां कांच के तल वाली नाव में बैठकर अद्भुत समुद्री जीवन देखने का आनंद उठा सकते हैं। आप चाहें तो यहां बने नए समुद्री एक्‍वेरियम में भी समुद्री जीवन देख सकते हैं।
7. किल्तान तट : इस द्वीप के उत्तरी और दक्षिणी छोर पर एक उच्च तूफान समुद्र तट है। यहां गर्मी में ही जा सकते हैं। यहां का लोकनृत्य प्रसिद्ध है।

8. चेतलाट : चेतलाट उत्तरी सबसे ज्यादा बसे हुए द्वीप हैं। यहां भी गर्मी में जा सकते हैं।

9. एंड्रोट : यह लक्षद्वीप का सबसे बड़ा द्वीप है। यहां मुख्य रूप से नारियल के पेड़ों की बहुतायत है। यहां पर मुस्लिम लोग भी बहुतायत में रहते हैं। यहां मिनिकॉय और अगत्ति फिशिंग उद्योग अच्छी तरह से विकसित हुआ है।

10. बित्रा : यह लक्षद्वीप का सबसे छोटा द्वीप है।

11. अमीनी : यह द्वीप दक्षिण में कावाराट्टी द्वीप और उत्तर में कदमत द्वीप के बीच स्थित है। कोरल और रेत पत्थर के कारण यहां पर कारीगर पत्‍थर की कलाकृतियां बनाते हैं और यहां का लोकसंगीत और नृत्य भी प्रसिद्ध है।



और भी पढ़ें :