0

Shri Krishna 11 August Episode 101 : सुदामा की पत्नी गरीबी के दु:ख से हारकर भेजती है राजा के दरबार में उन्हें

मंगलवार,अगस्त 11, 2020
0
1
इस बार भी तिथि नक्षत्र का संजोग नहीं मिलने के कारण 11 तथा 12 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाएगी। कुछ स्थानों पर तो 13 अगस्त को भी जन्माष्टमी बनाई जा रही है, इससे भक्त असमंजस की स्थिति में आ गए हैं
1
2
·भगवान विष्णु ने भगवान शिव से उनका बाल रूप देखने का अनुरोध किया और उनकी इच्छा पूरी करने के लिए भगवान शिव ने बालक के रूप गृहपति अवतार लिया। उसके बाद भगवान शिव ने भी भगवान विष्णु के बाल रूप को देखने की इच्छा जताई।
2
3
श्रीकृष्ण जन्मोत्सव पर घरों में बाल गोपाल की पूजा होती है। उनके लिए झूले सजाए जाते हैं। बाल गोपाल की पूजा में कुछ बातों का विशेष ध्यान रखा जाता है। 16 बातें आपके काम की है...
3
4
मनमोहन,केशव, श्याम, गोपाल, कान्हा, श्रीकृष्णा, गोपाल, घनश्याम, बाल मुकुन्द, गोपी मनोहर, श्याम, गोविंद, मुरारी, मुरलीधर के शुभ पर्व जन्माष्टमी 2020 पर कैसे करें श्रीकृष्ण की पूजा....
4
4
5
खुशी, संतान, नौकरी, प्रेम,यश, सुख, समृद्धि, धन-वैभव, पराक्रम, सफलता जैसे 10 बड़े आशीष पाने हैं तो जन्माष्टमी के दिन अवश्य पढ़ें श्री कृष्ण चालीसा...
5
6
योगेश्वर भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि दिन बुधवार को रोहिणी नक्षत्र अर्द्धरात्रि में हुआ था। जब चन्द्रमा वृषभ राशि में स्थित था।
6
7
भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के दिन प्रात:काल स्नान करके घर को स्वच्छ करें। नाना प्रकार के सुगंधित पुष्पों से घर की सजावट करें व गोपालजी का पालना सजाएं।
7
8
12 अगस्त को कृष्ण जन्माष्टमी है। योगेश्वर भगवान कृष्ण का प्राकट्योत्सव। भगवान कृष्ण का चरित्र उनकी नटखट बाल लीलाओं के बिना अधूरा है।
8
8
9
वर्ष 2020 में श्री कृष्ण जन्माष्टमी 12 अगस्त को मनाई जा रही है। यह दिन हर तरह की समस्या निवारण के लिए अत्यंत उपयुक्त है। निम्न तरीके से किए गए जप-अनुष्ठान संलग्न समस्याओं से निजात दिलाते हैं।
9
10
श्रीकृष्ण के सात अक्षरी, आठ अक्षरी और बारह अक्षरी मंत्र बोलने और जप करने में बड़े सरल और मंगलकारी हैं। मंत्र इस प्रकार हैं...
10
11
जो अपनी ओर सबको आकर्षित करे वह 'कृष्ण' है। समय-समय पर अलग-अलग लीलाओं के आधार पर उनके नाम होते गए। इन्हीं नामों का राशि अनुसार अष्टमी पर जाप करने से मनचाहा वरदान मिलता है।
11
12
निर्माता और निर्देशक रामानंद सागर के श्रीकृष्णा धारावाहिक के 10 अगस्त के 100वें एपिसोड ( Shree Krishna Episode 100 ) में श्रीकृष्ण रुक्मिणी को बताते हैं कि किसी तरह सुदामा इस गरीबी में मेरा नाम जपता रहता है, परंतु वह मुझसे मदद नहीं मांगना चहता ...
12
13
जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण को विशेष प्रसाद से प्रसन्न किया जा सकता है।
13
14
भगवान श्रीकृष्ण को 56 प्रकार के व्यंजन परोसे जाते हैं जिसे 56 भोग कहा जाता है। बालगोपाल को लगाए जाने वाले इस भोग की बड़ी महिमा है। भगवान श्रीकृष्ण को अर्पित किए जाने वाले 56 भोग के संबंध में कई रोचक कथाएं हैं।
14
15
जन्माष्टमी पर सौभाग्य, ऐश्वर्य, यश, कीर्ति, पराक्रम और अपार वैभव के लिए भगवान श्रीकृष्ण के नामों का जाप किया जाता है। 108 नाम यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत
15
16
जन्माष्टमी से लेकर हर दिन कान्हा का श्रृंगार बदला जाए तो 40 दिन में जीवन में आ रहे सुखद बदलाव को महसूस करेंगे। भगवान श्रीकृष्ण का पूजन त्रिकाल संध्या करना चाहिए।
16
17
भगवान श्रीकृष्ण को हिन्दू धर्म में विष्णु को पूर्णावतार माना जाता है। वे 16 कलाओं से युक्त 64 विद्याओं में परंगत थे। वे प्रेम और युद्ध दोनों में ही कुशल थे। उनके बचपन का नाम कन्हैया था जिन्हें प्यार से लोग कान्हा कहते थे। आओ जानते हैं उनके बचपन के ...
17
18
भगवान श्रीकृष्ण का जन्म अष्टमी तिथि को रोहिणी नक्षत्र में हुआ था। कैसे करें सरल पूजन/ अत्यधिक बीमारियों का समय चातुर्मास, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर इन बीमारियों से बचने व निरोग रहने के वैज्ञानिक व अचूक उपाय!
18
19
शिव का सावन चाहे पूरा हो गया हो लेकिन जन्माष्टमी आने को है, शिव के साथ कान्हा हमारे हृदय में विराजते हैं। उनके बारे में कुछ ऐसी बातें जानते हैं, जो हमें उनकी विशेषताओं से चमत्कृत करती हैं-
19