शादी के लिए क्या जरूरी है उम्र का फासला?

अक्सर शादी के लिए लड़के और लड़कियों के बीच का फासला रखा जाता है। अधिकतर मामलों में लड़के की उम्र लड़की से बड़ी होती है। बहुत कम मामलों में लड़की की उम्र लड़के से ज्यादा होती है। हालांकि यह समझना भी जरूरी है कि क्यों लड़के और लड़की की उम्र में अंतर होता है?
*कुछ लोग तर्क देते हैं कि लड़का बड़ा होगा तो वह लड़की से ज्यादा समझदार होगा और वह सभी बातों में लड़की को सहयोग करेगा।
कुछ लोग ऐसा भी तर्क देते हैं कि लड़कियां अक्सर भावुक होती हैं। यदि लड़के की उम्र लड़की से ज्यादा है तो वह उसे भावनात्मक सहारा दे सकता है।

* कुछ लोग इसके लिये तर्क देते हैं कि पुरुषों में ढलती उम्र के लक्षण महिलाओं की तुलना में देर से नजर आते हैं, जबकि महिलाएं जल्दी उम्रदराज नजर आने लगती हैं,ऐसे में उनकी उम्र कम होना ठीक है। लेकिन इस तर्क का कोई खास बायोलॉजिकल आधार नहीं है। बहुत से पुरुष वक्त के पहले ही उम्रदराज दिखने लगते हैं। पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में प्रतिरोधक क्षमता ज्यादा होती है।
* कुछ लोगों के अनुसार उम्र में अंतर होने से संबंधों में संतुलन होता है क्योंकि उम्र के साथ व्‍यक्ति की सोच विकसित होने लगती है, वह चीजों को अच्‍छे से समझता है और किसी चीज में संतुलन सही तरीके से बना सकता है।

* यदि दोनों की उम्र समान होगी तो लड़की लड़के को उस तरह का सम्मान नहीं देगी जैसा कि पति को मिलना चाहिये। ऐसे में दोनों के बीच अहम की लड़ाई शुरू हो जाएगी और लड़ाई- झगड़े अधिक होंगे उम्र का अंतर होने पर एक दूसरे का सम्मान और प्यार बना रहता है।
लेकिन इस बारे में हिन्दू धर्म क्या कहता हैं, आइये अगले पन्ने पर यह जानते हैं...

 

और भी पढ़ें :