0

पतित पावनी मां गंगा : गंगाजल की पवित्रता की 10 महत्वपूर्ण बातें

शुक्रवार,मई 20, 2022
0
1
History of Qutub Minar Or Surya dhruv stambha : कुतुब मीनार, ध्रुव स्तंभ, विष्णु स्तंभ या सूर्य स्तंभ, क्या कहें? इसी कुतुब मीनार के एक ओर एक मस्जिद बनी हुई है जिसे कुबत−उल−इस्लाम मस्जिद और इसके दूसरी ओर एक लौह स्तंभ लगा हुए है, जिस पर संस्कृत में ...
1
2
प्रत्येक माह में दो चतुर्थी होती है। इस तरह 24 चतुर्थी और प्रत्येक तीन वर्ष बाद अधिमास की मिलाकर 26 चतुर्थी होती है। सभी चतुर्थी की महिमा और महत्व अलग-अलग है। आओ जानते हैं चतुर्थी का व्रत करने के 5 लाभ।
2
3
History of Kashi Vishwanath Temple : ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर एक बार फिर विवाद चल रहा है। पुरातत्व विभाग ने इसका सर्वे कार्य पूरा कर लिया है। आओ जानते हैं कि क्या है ज्ञानवापी मस्जिद के विवाद का इतिहास, शिव मंदिर होने के दावे पर क्या कहते हैं ...
3
4
History of gyanvapi masjid mosque: कहते हैं कि काशी में शिवजी का एक बहुत ही विशालकाय मंदिर था। इसे मध्यकाल में तोड़कर यहां पर एक मस्जिद बना दिए जाने का दावा किया जाता रहा है। आओ जानते हैं काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद का प्राचीन इतिहास।
4
4
5
वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी चतुर्दशी को भगवान नृसिंह देव का प्रकटोत्सव मनाया जाता है। इस दिन व्रत रखकर उनकी पूजा करने से सभी तरह के संकट समाप्त हो जाते हैं और व्यक्ति सभी तरह के सुख पाता है। आओ जानते हैं श्री हरि विष्णु के इस अवतार की 10 ...
5
6
बलराम का बलदाऊ और बलभद्र भी कहा जाता है, लेकिन उनका एक नाम संकर्षण भी है। आओ जानते हैं कि आखिर उनका श्रीकृष्‍ण के साथ क्या था रिश्ता और क्यों कहते हैं उन्हें संकर्षण।
6
7
History of History of Gyanvapi masjid : काशी में 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक बाबा विश्वनाथ का मंदिर का इतिहास बहुत ही प्राचीन है। यह आओ जानते हैं कि कब बना था काशी में शिव मंदिर और कब इसे तोड़ा गया और फिर कब यहा पर ज्ञानवापी नाम की मस्जिद बनी।
7
8
Story of Krishna Janmashtami : कहते हैं कि मथुरा में श्रीकृष्‍ण जन्मभूमि पर एक विशालकाय मंदिर बना था। इस भव्य मंदिर को कई बार तोड़ा गया और अंत में यहां पर एक ईदागाह बना दी गई। भगवान श्रीकृष्ण का जन्म मथुरा के कारागार में हुआ था। आओ जानते हैं मथुरा ...
8
8
9
Tajmahal 22 rooms: मुमताज और शाहजहां की कब्र ताजमहल को लेकर दावा किया जा रहा है कि 700 से अधिक ऐसे सबूत मौजूद हैं जो इसे मंदिर इमारत घोषित करते हैं। यानी वर्तमन ताजमहल पर ऐसे 700 चिन्ह खोजे गए हैं जो इस बात को दर्शाते हैं कि इसका रिकंस्ट्रक्शन किया ...
9
10
Taj mahal or tejo mahalaya: कई लोग यह दावा करते हैं कि ताजमहल पहले एक हिन्दू मंदिर था जिसका नाम तेजोमहल था। यह एक शिव मंदिर था। हाल ही में इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) की लखनऊ पीठ में एक याचिका दायर कर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASi) को ...
10
11
Adi shankaracharya jayanti 2022: 6 मई 2022 शुक्रवार को आदि शंकराचार्यजी की जयंती मनाई जाएगी। महर्षि दयानंद सरस्वती जी ने अपनी पुस्तक सत्यार्थ प्रकाश में लिखा है कि आदि शंकराचार्यजी का काल लगभग 2200 वर्ष पूर्व का है। दयानंद सरस्वती जी 138 साल पहले ...
11
12
भगवान विष्णु के छठे आवेश अवतार परशुराम की जयंती वैशाख शुक्ल तृतीया को आती है। इस बार यह जयंती 3 मई 2022 को मनाई जाएगी। भगवान परशुराम की गणना सप्त चिरंजीवी महापुरुषों में की जाती है। यानी वे आज भी सशरीर धरती पर हैं। आओ जानते हैं उनकी जीवन कथा।
12
13
Type of deepak ka kya fayda: दीपक कई प्रकार के होते हैं, जैसे चांदी के दीपक, मिट्टी के दीपक, लोहे के दीपक, ताम्बे के दीपक, पीतल की धातु से बने हुए दीपक, कांसे का दीपक तथा आटे से बनाए हुए दीपक। आओ जानते हैं कि कौन-सा दीप किस कामना के लिए जलाया जाता ...
13
14
City of Mahakal: 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक सबसे प्रमुख महाकाल बाबा मध्यप्रदेश के उज्जैन में विराजमान हैं। इसे महाकाल की नगरी उज्जैन कहा जाता है। कहते हैं कि उज्जैन के पहले इसका नाम अवंतिका था। पालिग्रंथों में इसका नाम उज्जैनी है, वहीं प्राकृत ...
14
15
हिन्दू धर्म में मंदिरों में ध्यान, साधना, पूजा-पाठ के साथ ही भजन, कीर्तन और आरती का भी खासा महत्व बताया गया है। प्राचीन मंदिरों में तो नृत्य, कला, योग और संगीत की शिक्षा भी दी जाती थी। आओ जानते हैं मंदिर में भजन या आरती के समय बजाए जाने वाले प्रमुख ...
15
16
माह में 2 एकादशियां होती हैं अर्थात आपको माह में बस 2 बार और वर्ष के 365 दिनों में मात्र 24 बार ही नियमपूर्वक एकादशी व्रत रखना है। हालांकि प्रत्येक तीसरे वर्ष अधिकमास होने से 2 एकादशियां जुड़कर ये कुल 26 होती हैं।
16
17
Akhand Bharat: हरिद्वार में 13 अप्रैल को हुए एक कार्यक्रम में RSS प्रमुख मोहन भागवत ने अगले 15 साल में ‘अखंड भारत’ बनने की बात कही है। उनके इस बयान के बाद एक बार फिर से अखंड भारत पर बहस चल पड़ी है। आखिर कैसा था प्राचीनकाल में अखंड भारत और क्या अब यह ...
17
18
Tirtha yatra: हिन्दू धर्म के 10 महत्वपूर्ण कर्तव्य हैं- 1.संध्यावंदन, 2.व्रत, 3.उत्सव, 4.दान, 5.संस्कार, 6.यज्ञ, 7.तीर्थ, 8.वेदपाठ, 9.सेवा और 10. धर्म प्रचार। इसमें से चार धाम तीर्थ यात्रा और नदी परिक्रमा करना बहुत जरूरी है। तीर्थ करना है पुण्य कर्म ...
18
19
तुलसी के विभिन्न प्रकार के पौधे मिलते हैं- जैसे श्रीकृष्ण तुलसी, लक्ष्मी तुलसी, राम तुलसी, भू तुलसी, नील तुलसी, श्वेत तुलसी, रक्त तुलसी, वन तुलसी, ज्ञान तुलसी आदि। आओ जानते हैं कि हिन्दू धर्म में क्या है तुसली का महत्व।
19