...तो रेगिस्तान बन जाएगा उत्तर भारत : योगी आदित्यनाथ

पुनः संशोधित बुधवार, 9 अगस्त 2017 (12:27 IST)
लखनऊ। के मुख्यमंत्री ने लोगों को आगाह किया है कि गंगा और यमुना नदी का अस्तित्व यदि संकट में पड़ा तो उत्तर भारत का बड़ा भू-भाग रेगिस्तान में तब्दील हो जाएगा।

योगी बुधवार को यहां 'नमामि गंगे जागृत यात्रा' को हरी झंडी दिखाकर रवाना कर रहे थे। बिजनौर से बलिया तक निकलने वाली इस यात्रा में उत्तरप्रदेश होमगार्ड के जवान शामिल होंगे। 25 जिलों के 108 विकासखंड क्षेत्रों में होते हुए यह यात्रा 1,025 किमी की दूरी तय करेगी।

योगी ने कहा कि नदी संस्कृति को हर हाल में मजबूत करना होगा। गंगा की निर्मलता बनाए रखना होगी। निर्मलता बनाए रखना केवल सरकार की जिम्मेदारी नहीं बल्कि इसमें बूढे, बच्चे, समाजसेवी संगठन और अन्य लोगों को भी जुड़ना होगा।
उन्होंने कहा कि नदियां लाइफलाइन होती हैं। उत्तर भारत में गंगा-यमुना का अस्तित्व बनाए रखना होगा। इनको प्रदूषण से मुक्त करना होगा। इनका अस्तित्व संकट में आएगा तो उत्तर भारत का बड़ा भू-भाग रेगिस्तान में परिवर्तित हो सकता है।

उन्होंने कहा कि गंगोत्री से गंगासागर तक गंगा की निर्मलता बनाए रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 'गंगा विकास' के नाम से नया मंत्रालय गठित कर दिया। नदी संस्कृति विकसित करने का अभियान शुरू किया। हमें दुनिया की सबसे प्राचीन संस्कृति को जीवित रखना है। (वार्ता)



और भी पढ़ें :