गंगा के तेज बहाव में फंसे ग्रामीण, 20 को निकाला बाहर, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

हिमा अग्रवाल| Last Updated: शनिवार, 19 जून 2021 (21:49 IST)
हरिद्वार। पहाड़ों में लगातार हो रही झमाझम के चलते वहां के लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कहीं पहाड़ों के दरकने से मलबा मार्गों को अवरुद्ध कर रहा है, तो कहीं गंगा नदी उफान पर आ गई है। बारिश के कारण गंगा नदी का जलस्तर बढ़ गया है और वह खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। गंगा का जलस्तर बढ़ने से आज लक्सर तहसील के 2 क्षेत्रों में स्थानीय फंस गए।
सबसे पहले लक्सर के जसपुर रंजीतपुर गांव के निकट गंगा नदी में बीस 20 लोग फंस गए। आनन-फानन में आपदा कंट्रोल रूम को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही लक्सर के एसडीएम शैलेंद्र नेगी, पुलिस और मौके पर पहुंच गई।

गंगा नदी बहाव के बीच में फंसे 20 लोग नदी में बने टापू पर खड़े हो गए। ये लोगों से मदद की गुहार लगाते नजर आए, लेकिन जैसे ही रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची तो टापू पर खड़े ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। रेस्क्यू टीम ने गंगा के मध्य फंसे सभी लोगों को सकुशल बाहर निकाल लिया।

इसी बीच हरिद्वार आपदा कंट्रोल रूम को फिर एक सूचना मिली कि लक्सर तहसील स्थित शिवपुरी गांव के लगभग 16 लोग गंगा नदी के मझधार में फंसे हुए हैं। आपदा प्रबंधन टीम जसपुर रंजीतपुर गांव से खत्म करते ही शिवपुरी गांव पहुंच गई है, लेकिन अभी वहां पर रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

लक्सर एसडीएम का कहना है कि एक ही तहसील क्षेत्र में दो जगह गंगा नदी में ग्रामीण फंस गए हैं। 20 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है, शिवपुरी गांव के लोग भी सकुशल बाहर निकाल लिए हैं और रेस्क्यू अभियान जारी है।



और भी पढ़ें :