सिंगापुर के सेंटोसा आईलैंड जैसा सुंदर है हनुवंतिया : शिवराज सिंह चौहान

Last Updated: मंगलवार, 21 दिसंबर 2021 (17:25 IST)
खंडवा। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हनुवंतिया के जैसा सुंदर है। सेंटोसा आईलैंड के भ्रमण के दौरान ही उन्हें हनुवंतिया को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की प्रेरणा मिली थी।
चौहान ने आज जिले के पर्यटन स्थल हनुवंतिया में 'जल महोत्सव 2021-22' का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां का गहरा नीला पानी समंदर जैसा है। ऐसा दृश्य देखने को शहरवासी तरसते हैं। आज में हनुवंतिया का विशेष स्थान है।

उन्होंने कहा कि हनुवंतिया में सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ ही विभिन्न साहसिक गतिविधियां स्कूबा डायविंग, ज्वाय राइड, हॉट एयर बैलून आदि प्रारंभ की जाएंगी। हेलीकॉप्टर में बैठने का आनंद भी ले सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने स्वच्छ सर्वेक्षण में मध्यप्रदेश को मिले पुरस्कारों के लिए सभी संबंधितों को बधाई दी। स्वच्छ सर्वेक्षण में मध्यप्रदेश का इंदौर शहर लगातार पांचवीं बार देश में प्रथम रहा है। प्रदेश के अन्य क्षेत्रों ने भी स्वच्छता में कीर्तिमान स्थापित किए हैं। 25 हजार जनसंख्या वाले कचरा मुक्त शहरों की श्रेणी में मूंदी के देश में प्रथम आने पर मुख्यमंत्री ने बधाई दी।

चौहान ने कहा कि निमाड़ क्षेत्र जनजातीय नायकों टंट्या भील, भीमा नायक, खज्या नायक आदि की गौरव गाथा कहता है। टंट्या मामा ने यहां जन्म लिया। उनके कड़े यहां रखे हैं। प्रदेश में टंट्या मामा का बलिदान दिवस 4 दिसंबर को पातालपानी में मनाया जाएगा। इसके पूर्व उनके जन्म स्थान खंडवा जिले की पंधाना तहसील के बडदा ग्राम से उनकी पावन मिट्टी का कलश लेकर यात्रा निकाली जाएगी, जो 4 दिसंबर को पातालपानी में संपन्न होगी।

मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव संस्कृति शुक्ला को निर्देश दिए कि हनुवंतिया में आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर एक प्रदर्शनी लगाई जाए, जो हमारे देशभक्तों की गौरव गाथा प्रदर्शित करे। उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग पर्यटन के क्षेत्र में अद्भुत कार्य कर रहा है। पर्यटन के माध्यम से रोजगार के अवसर सृजित होते हैं। प्रदेश में पर्यटन को अधिक से अधिक बढ़ावा दिया जाएगा। ग्रामीण पर्यटन भी प्रारंभ किया जा रहा है।
चौहान ने वनमंत्री विजय शाह की मांग पर चारखेड़ा में बर्ड वॉच सेंटर तथा नाइट सफारी शुरू किए जाने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी वर्ग की आजीविका प्रभावित न हो, इस उद्देश्य से प्रदेश में कोरोना संबंधी सारे प्रतिबंध समाप्त कर दिए गए हैं। प्रतिबंध हटने के बावजूद भी हमें सभी सावधानियां बरतनी होंगी। सभी कोरोना वैक्सीन के दो डोज आवश्यक रूप से लगवा लें।

वनमंत्री शाह ने कहा कि हनुवंतिया क्षेत्र में नर्मदा नदी के विभिन्न टापुओं का पर्यटन की दृष्टि से विकास किया जाएगा। चारखेड़ा में बर्ड वॉचिंग सेंटर एवं नाइट सफारी प्रारंभ किए जा सकते हैं। संत सिंगाजी तीर्थ स्थल के लिए नाव चलाई जाएगी। यहां पानी पर हवाई जहाज उतरने की व्यवस्था कर हवाई सेवा भी प्रारंभ की जा सकती है।

प्रारंभ में प्रमुख सचिव संस्कृति, पर्यटन एवं जनसंपर्क शिव शेखर शुक्ला ने जल महोत्सव की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की। सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल एवं विधायक नारायण पटेल ने भी संबोधन दिया।(वार्ता)



और भी पढ़ें :