गुरुवार, 9 फ़रवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. RSS leader Indresh Kumars statement – increasing population in the name of religion and casteism is like sedition
Written By हिमा अग्रवाल
Last Updated: रविवार, 2 अक्टूबर 2022 (19:20 IST)

RSS के नेता इंद्रेश कुमार का बयान- मजहब और जातिवाद के नाम पर जनसंख्या बढ़ाना देशद्रोह की तरह

मेरठ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के वरिष्ठ नेता इंद्रेश कुमार ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) पर प्रतिबंध लगाने को उचित बताया है। उन्होंने कहा कि देश विरोधी ताकतों व वैमनस्य फैलाने वाली की संस्थाओं पर रोक लगनी चाहिए। जो लोग समाज की एकता और अखंडता को तोड़ने के लिए जिन कार्यकमों में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारा लगाते है वह सबके सामने है। इसलिए अब सोचने की कोई गुंजाइश नही रहती है, इन नारों को लगाने वालों के तार भारत से नही विदेशों से जुड़े है यह विदेशी फंडिंग से चल रहे है, इन पर भी बैन लगना चाहिए।
 
इन्द्रेश कुमार मेरठ में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे, जहां मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा है कि सरकार द्वारा कराए जा रहे मदरसों के सर्वे से अवैध गतिविधियों पर नियंत्रण लगा है। देवबंद के उलेमाओं ने भी कहा है कि सर्वे होना चाहिए, शिक्षा पाना सबका अधिकार है, लेकिन दीनी तालीम के साथ आधुनिक शिक्षा भी जरूरी है।

उन्होंने कहा कि हाल ही में मदरसों के छात्रों से बातचीत हुई। उन्होंने कहा कि वे टीचर, डॉक्टर, एडवोकेट, चार्टर्ड अकाउंटेंट और इंजीनियर बनना चाहते हैं, अकेले दीन की तालीम हासिल करने से यह संभव नही हो सकता है। सिख, पारसी जैन धर्म अपनी तालीम के साथ आधुनिक शिक्षा व खेलकूद की गतिविधियों को भी बढ़ावा दे रहे हैं। 
 
विदेशों और भारत में भी जनसंख्या नियंत्रण करने के लिए चिन्तन चल रहा है। भारत में भी जनसंख्या कंट्रोल करने के लिए 'हम दो हमारे दो' का नारा बहुत वर्षों से सुनते आ रहे हैं, लेकिन यह परवान नहीं चढ़ सका। कुछ नेता मजहब और जातिवाद के नाम पर वोट की राजनीति कर रहे हैं, जाति और धर्म के नाम पर जनसंख्या बढ़ाना देशद्रोह जैसा काम है। अब बहुत जल्दी ही दो बच्चों का कानून आने वाला है, छोटा परिवार भी देशसेवा है। इसके लिए सभी दलों को मिलकर आगे आना चाहिए। Edited by Sudhir Sharma
ये भी पढ़ें
केदारनाथ में तीसरी बार हिमस्खलन, ग्लेशियर का हिस्सा टूटने से दहशत