रहस्यमयी झील : लेक ऑफ नो रिटर्न, जो गया, वापस लौटकर नहीं आया

पुनः संशोधित रविवार, 19 सितम्बर 2021 (16:40 IST)
में कई तरह की रहस्यमयी झीलें हैं, जो खास विशेषता लिए हुए हैं। ऐसी ही एक झील है, जो अपनी रहस्यमयी घटनाओं के कारण आकर्षण का केंद्र बनी रहती है।
यह झील भारत और म्यांमार की सीमा के पास है, जिसे 'लेक ऑफ़ नो रिटर्न' के नाम से जाना जाता है। इस झील के बारे में कहा जाता है कि जो यहां जाता है, वापस लौटकर नहीं आया है।

इस झील के नाम के पीछे भी यही कहानी है। यह कहानी द्वितीय विश्व युद्ध से जुड़ी हुई है। अमेरिका ने इस जगह को समतल जमीन समझकर हवाई जहाज़ों की आपातकालीन लैंडिंग करा दी थी।

इसके बाद हवाई जहाज़ों में बैठे अमेरिका के कई कर्मचारी और पायलट अचानक गायब हो गए, तभी से इसे ‘Lake Of No Return' कहा जाता है। एक और कहानी है। द्वितीय विश्व युद्ध के बाद जब जापानी सैनिक वापस लौट रहे थे, तभी वे रास्ता भटक गए और वे जैसे ही झील के पास आए तो वहां की रेत में धंसते चले गए फिर रहस्यमय तरीके से गायब हो गए।



और भी पढ़ें :