प्रदर्शन के दौरान अभिनेत्री एवं भाजपा नेता खुशबू गिरफ्तार

पुनः संशोधित मंगलवार, 27 अक्टूबर 2020 (16:16 IST)
चेन्नई। सुप्रसिद्ध अभिनेत्री खुशबू सुंदर को मंगलवार को शहर के बाहरी इलाके से उस समय गिरफ्तार किया गया जब वह वीसीके संस्थापक और लोकसभा सदस्य थोल तिरुमावलवन के खिलाफ पार्टी भाजपा की ओर से आयोजित एक विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेने के लिए चिदंबरम की ओर जा रही थीं। खुशुबू हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुई हैं।
भाजपा ने दलित नेता द्वारा मनुस्मृति का हवाला देते हुए महिलाओं पर अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए उसके खिलाफ राज्यव्यापी विरोध प्रदर्शन करने का आह्वान किया है।

सुश्री खुशबू जब चिदंबर की ओर जा रही थीं तब उन्हें ईसीआर पर मुट्टुकाडू के पास रोक गया और प्रदर्शन में शामिल होने के लिए अनुमति नहीं देते हुए पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। बाद में खुशबू ने एक के बाद एक ट्वीट करते हुए कहा कि महिलाओं की गरिमा की लड़ाई अंतिम सांस तक जारी रहेगी।
उन्होंने कहा कि डरपोक वीसीके, खुश न हो। यह तुम्हारी विफलता है। हमें गिरफ्तार किया गया क्योंकि वे जानते हैं हम उनसे ताकतवर हैं। हम झुकने वाले नहीं हैं।
सुश्री खुशबू ने कहा कि मुझे गिरफ्तार किया गया और पुलिस वैन में ले जाया गया। मैं अपनी अंतिम सांस तक महिलाओं की गरिमा के लिए लड़ती रहूंगी। माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए हमेशा बोला है और हम उनका अनुसरण कर रहे हैं। हम कुछ तत्वों और उनके अत्याचारों के सामने हम कभी नहीं झुकेंगे। भारत माता की जय।
भाजपा के राष्ट्रीय सचिव सीटी रवि सहित वरिष्ठ नेताओं ने सुश्री खुशबू की गिरफ्तारी की निंदा की है। पार्टी के प्रवक्ता के टी राघवन ने कहा कि जब पुलिस के पास कई शिकायतें दर्ज होने के बावजूद हिंदू धर्म पर अपमानजनक बयानों के लिए तिरुमावलवन के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती है, मुझे और खुशबू संदर को लोकतांत्रिक ढंग से चल रहे विरोध प्रदर्शन में शामिल होने से पहले चिदम्बरम में गिरफ्तार कर लिया गया है। यह किस तरह की सरकार है।
पार्टी नेता सीपी राधाकृष्णन ने कहा कि मैं सुश्री खुशबू जी और तमिलनाडु के अन्य भाजपा सदस्यों की गिरफ्तारी की कड़ी निंदा करता हूं, जो तिरुमवलवन के खिलाफा शांतिपूर्ण ढंग से आज विरोध प्रदर्शन कर रहे थे।



और भी पढ़ें :