Weather update: जम्मू-कश्मीर के ऊंचाई वाले इलाकों में हुई बर्फबारी, शिमला और मनाली में कई रास्ते अवरुद्ध

Last Updated: सोमवार, 28 दिसंबर 2020 (17:30 IST)
श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के ऊंचाई वाले कई इलाकों में बर्फबारी हुई है, वहीं समूची घाटी में न्यूनतम तापमान में सुधार होने से लोगों को ठंड से काफी राहत मिली है। अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि कश्मीर और जम्मू क्षेत्रों के ऊंचाई वाले इलाकों में रात में फिर से बर्फबारी हुई है।
उन्होंने बताया कि उत्तर कश्मीर के गुलमर्ग में 2 इंच बर्फबारी रिकॉर्ड की गई है जबकि दक्षिण कश्मीर के पहलगाम में और मध्य कश्मीर के सोनमर्ग में 1-1 इंच हिमपात दर्ज किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि उत्तर कश्मीर के गुरेज में 3 इंच बर्फबारी रिकॉर्ड की गई है। उन्होंने बताया कि जम्मू क्षेत्र के भी कई हिस्सों में बर्फबारी हुई है।
अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर जवाहर टनल के आसपास के इलाके में 2 इंच बर्फबारी रिकॉर्ड की गई है। इस राजमार्ग पर अस्थायी रूप से यातायात बाधित हो गया था। उन्होंने बताया कि कश्मीर घाटी को सभी मौसम में देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने वाली सड़क पर सुबह में कुछ देर के लिए यातायात रोका गया था लेकिन बर्फ साफ करने के बाद गाड़ियों को जाने की इजाजत दे दी गई।
अधिकारियों ने बताया कि आसमान में बादल छाए रहने की वजह से कश्मीर घाटी में रात के तापमान में बढ़ोतरी हुई जिससे निवासियों को राहत मिली। उन्होंने बताया कि श्रीनगर में शनिवार को तापमान शून्य से 5.2 डिग्री सेल्सियस नीचे था, जो रविवार रात को करीब 6 डिग्री बढ़कर शून्य से ऊपर 0.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। अधिकारियों ने बताया कि रविवार को पहलगाम में पारा शून्य से 1.3 डिग्री सेल्सियस कम रिकॉर्ड किया गया, जो शनिवार रात को शून्य से 5.9 डिग्री सेल्सियस नीचे था। अधिकारियों ने बताया कि गुलमर्ग में पारा शून्य से 6.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। यह घाटी का सबसे सर्द इलाका रहा। अधिकारियों ने बताया कि काजीगुंड और कूपवाड़ा में भी पारा शून्य से थोड़ा ही कम दर्ज किया गया।
गौरतलब है कि कश्मीर में 40 दिन का 'चिल्लईकलां' का दौर चल रहा है। इस दौरान क्षेत्र में कड़ाके की ठंड पड़ती है और सर्दी का आलम यह रहता है कि जल आपूर्ति वाली लाइनों तक में पानी जम जाता है। मौसम विज्ञान विभाग के कार्यालय ने कहा है कि 3 जनवरी तक मौसम के शुष्क रहने की संभावना है।
प्रदेश में बर्फबारी से ऊपरी शिमला और मनाली के कई रास्ते अवरुद्ध। हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी के कारण ऊपरी शिमला और मनाली के कई रास्ते अवरुद्ध हो गए हैं और पुलिस ने लोगों को सड़कें साफ होने तक उन इलाकों में नहीं जाने की सलाह दी है।
शिमला में मौसम विज्ञान विभाग केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि शिमला जिले के कुफरी में 30 सेंटीमीटर बर्फ गिरी है जबकि चम्बा जिले के डलहौजी में 32 सेंटीमीटर, कुल्लू जिले के मनाली मे 14 सेंटीमीटर, शिमला शहर में 9 सेंटीमीटर तक बर्फबारी हुई है। उन्होंने बताया कि केलांग, कल्पा, शिमला, डलहौजी और कुफरी में सोमवार को तापमान शून्य से नीचे रहा। केलांग राज्य का सबसे ठंडा स्थान रहा, जहां न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे 6.7 डिग्री सेल्सियस रहा। (भाषा)



और भी पढ़ें :