दिल्ली में हिरासत से भागा गैंगस्टर कुलदीप पुलिस मुठभेड़ में ढेर

Last Updated: रविवार, 28 मार्च 2021 (21:33 IST)
नई दिल्ली। पुलिस हिरासत से भागे एक वांछित अपराधी को दिल्ली के रोहिणी इलाके में हुई एक मुठभेड़ में विशेष प्रकोष्ठ की टीम ने ढेर कर दिया। पुलिस ने बताया कि पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ और अपराध शाखा की कई टीमें कुलदीप उर्फ फज्जा का पता लगाने और उसे पकड़ने के काम पर लगी हुई थीं। वह 25 मार्च को हिरासत से फरार हो गया था।
पुलिस ने बताया कि रोहिणी में यह अभियान शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात को करीब पौने दो बजे चलाया गया। उन्होंने बताया कि रोहिणी सेक्टर 14 के एक फ्लैट में हुई मुठभेड़ में कुलदीप जख्मी हो गया था।

पुलिस ने बताया कि विशेष प्रकोष्ठ को शनिवार को सूचना मिली कि कुलदीप तुलसी अपार्टमेंट में छुपा हुआ है। अभियान से पहले,विशेष प्रकोष्ठ ने रात करीब साढ़े नौ बजे कुलदीप के सहयोगी भूपिंदर मान को गिरफ्तार कर लिया था और उसने बताया कि वह कुलदीप को शरण दे रहा है।

विशेष प्रकोष्ठ के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) प्रमोद सिंह कुशवाह ने कहा, पुलिस इलाके में पहुंची और फ्लैट पर छापा मारा। उन्होंने कुलदीप से आत्मसमर्पण करने को कहा लेकिन उसने पुलिस पर गोली चला दी। इसके जवाब में, पुलिस ने भी गोली चलाई जिसमें कुलदीप जख्मी हो गया।

उसे रोहिणी के बाबा साहेब आम्बेडकर अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।पुलिस ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान करीब 20 गोलियां चलाई गईं। आठ गोलियां कुलदीप ने चलाईं तो करीब 10 गोलियां विशेष प्रकोष्ठ के कर्मियों ने चलाईं। उन्होंने बताया कि फ्लैट कुलदीप के साथी योगेंद्र दहिया का है और उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, कुलदीप के साथियों ने गोगी गैंग को फिर से खड़ा करने के लिए उसे भगाने की योजना बनाई थी। एक सरकारी अस्पताल में यहां 25 मार्च को हुई गोलीबारी के बाद कुलदीप हिरासत से भाग गया था।

अस्पताल में, हमलावरों ने पहले पुलिस की टीम पर मिर्ची पाउडर फेंका और फिर उन पर गोलियां चलाईं थीं, जिसके जवाब में पुलिस ने 12 गोलियां चलाई थीं और एक हमलावर को मौके पर ही ढेर कर दिया था, जबकि दूसरा जख्मी हो गया था। यह मुठभेड़ तब हुई थी जब पुलिस गोगी गिरोह के सदस्य कुलदीप को इलाज के लिए अस्पताल ले जा रही थी।

अस्पताल के पिछले प्रवेश द्वार से स्कॉर्पियो में पांच-छह आदमी और एक व्यक्ति बाइक पर आया था तथा पुलिस पर गोलीबारी कर दी थी। गोगी गिरोह उगाही, फिरौती, रंगदारी के साथ-साथ कार लूटने समेत अन्य मामलों में शामिल है। कुलदीप को के विशेष प्रकोष्ठ ने पिछले साल मार्च में गुड़गांव से गिरफ्तार किया था।(भाषा)



और भी पढ़ें :