छत्तीसगढ़ में गांवों तक पहुंचा 'लापरवाही' का Corona, रायपुर और दुर्ग में हालात खराब

वृजेन्द्रसिंह झाला| Last Updated: बुधवार, 14 अप्रैल 2021 (19:45 IST)
छत्तीसगढ़ में (Coronavirus) के हालात दिनोंदिन बिगड़ते ही जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में राज्य में 15000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। यदि एक दिन में संक्रमण आंकड़ों की बात करें तो छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र और उत्तरप्रदेश के बाद तीसरे स्थान पर है, जबकि मौत के मामले में यह राज्य महाराष्ट्र के बाद दूसरे स्थान पर है। यहां पिछले 24 घंटों में 156 लोगों की मौतें हुई हैं और राज्य के 18 जिले लॉकडाउन की स्थिति से गुजर रहे हैं।

राज्य में अब तक करीब 4 लाख 72 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं, जबकि पिछले 24 घंटे में 15 हजार 121 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जनसंख्या के अनुपात में देखें तो यह आंकड़ा काफी बड़ा है। इस बीच, खबर है कि छत्तीसगढ़ कोरोना सेल के मीडिया प्रभारी डॉ. सुभाष पांडे की बुधवार को कोरोना से मौत हो गई है। दूसरी बार पॉजिटिव पाए जाने के बाद उन्हें रायपुर एम्स में भर्ती करवाया गया था।
रायपुर और दुर्ग में हालात खराब : राज्य में राजधानी रायपुर और दुर्ग में कोरोना की स्थिति सबसे ज्यादा खराब है। रायपुर में पिछले 24 घंटे में 4 हजार 168 नए मरीज मिले हैं और 53 लोगों की मौत हुई है। दूसरी ओर दुर्ग में दुर्ग में 1 हजार 755 नए मरीज मिले हैं और 12 लोगों की मौत हो गई। उल्लेखनीय है कि हाल ही में दुर्ग और रायपुर के वीडियो वायरल हुए हैं, जिनमें बड़ी संख्‍या में शव दिखाई दे रहे हैं। श्मशान घाटों में भी दिल दहलाने वाले दृश्य नजर आ रहे हैं।
छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार रवि भोई कोरोना संक्रमण को लेकर राज्य में उत्पन्न हालात के लिए लापरवाही को जिम्मेदार मानते हैं। वे कहते हैं कि रायपुर में 5 मार्च से 21 मार्च तक खेली गई वर्ल्ड रोड सेफ्टी क्रिकेट सीरीज खेली गई, जिसमें दुनियाभर के क्रिकेटर जुटे थे। इस क्रिकेट मैच को देखने के लिए स्टेडियम में हजारों की संख्या में लोग पहुंचे थे। इस आयोजन के लिए कांग्रेसी नेताओं ने फ्री पास बांटे थे, जिससे गांव-गांव से गाड़ियों में भरकर लोग रायपुर पहुंचे थे।
भोई कहते हैं कि इस दौरान लोगों ने न तो मास्क पहनने की जहमत उठाई न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया। चैंबर ऑफ कॉमर्स के चुनाव में भी भीड़ जुटी थी। इस दौरान मॉल भी खुले रहे। अब गांव-गांव तक कोरोना पहुंच गया है और मौत की खबरें भी सामने आ रही हैं।
उल्लेखनीय है कि इसी सी‍रीज के दौरान मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर कोरोना संक्रमण का शिकार हुए थे। रोड सेफ्टी सीरीज देखने गए रायपुर शहर के कांग्रेस नेता विष्णू साहू की रिपोर्ट की पॉजिटिव आई थी, जिनकी हाल ही में मौत हो गई। कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के दौरान कई अन्य लोगों की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी, जो कि क्रिकेट मैच देखने गए थे।
एक सच यह भी : श्मशान घाटों में इतने शव पहुंच रहे हैं कि वहां से उठता धुआं अब लोगों की मुसीबत का सबब बन गया है। हाल ही में दुर्ग के रामनगर से पार्षद दिवाकर भारती ने जिला प्रशासन को सूचित किया था कि श्मशान घाट के धुएं के कारण लोगों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। भारती की शिकायत के मुताबिक श्मशान घाट में 70 शव रोज जलाए जा रहे हैं। इनमें कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के साथ ही सामान्य लोगों के भी शव हैं।



और भी पढ़ें :