15 अगस्त से पहले महाराष्ट्र मंत्रिमंडल का विस्तार, 15 मंत्री ले सकते हैं शपथ, देवेन्द्र फडणवीस को मिलेगा गृह मंत्रालय

पुनः संशोधित रविवार, 7 अगस्त 2022 (17:33 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। (Maharashtra) के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) 15 अगस्त से पहले कम से कम 15 मंत्रियों को शामिल कर अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर सकते हैं और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) के महत्वपूर्ण गृह विभाग संभालने की उम्मीद है।


शीर्ष सरकारी सूत्रों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट द्वारा अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आरक्षण के मुद्दे पर सुनवाई के कारण राज्य में निकाय चुनाव में देरी हो रही है। उन्होंने कहा कि शीर्ष अदालत से स्पष्टीकरण मिलने के बाद अक्टूबर में होने की संभावना है।

शिवसेना में बगावत के कारण उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद शिंदे और फडणवीस ने क्रमशः 30 जून को मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। दोनों तब से 2 सदस्यीय मंत्रिमंडल के रूप में काम कर रहे हैं, जिसकी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री अजित पवार सहित विपक्षी दलों के कई नेताओं ने आलोचना की है।
फडणवीस ने कहा कि अजित पवार विपक्ष के नेता हैं। वे ऐसी बातें कहते रहेंगे। अजित दादा आसानी से भूल जाते हैं कि जब वे सरकार में थे तो पहले 32 दिनों में सिर्फ 5 मंत्री थे। फडणवीस ने पत्रकारों द्वारा बार-बार पूछे गए सवालों के जवाब में कहा कि आपकी सोच से पहले महाराष्ट्र मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। सूत्रों ने कहा कि यह कवायद 15 अगस्त से पहले होगी।
शनिवार को मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि मंत्रिपरिषद के विस्तार में देरी के कारण राज्य सरकार का कामकाज किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हुआ है और जल्द ही और मंत्रियों को शामिल किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने यहां पत्रकारों से कहा कि सरकार का काम किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हुआ है। निर्णय लेने की प्रक्रिया प्रभावित नहीं हुई है। मैं और उपमुख्यमंत्री निर्णय ले रहे हैं और सरकार के कामकाज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।
फडणवीस ने कहा कि भाजपा ने 2024 के लोकसभा चुनावों में महाराष्ट्र में अपना प्रदर्शन सुधारने के लिए 16 ऐसे संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों की पहचान करके एक मिशन शुरू किया है, जहां विपक्षी दल लगातार जीतते रहे हैं। उन्होंने कहा कि इनमें शिवसेना के उन नेताओं के निर्वाचन क्षेत्र भी शामिल हैं जो अब शिंदे खेमे में शामिल हो गए हैं।
फडणवीस ने कहा कि चूंकि शिवसेना और भाजपा गठबंधन के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ेंगे, इसलिए भाजपा इन निर्वाचन क्षेत्रों से मौजूदा लोकसभा सदस्यों की जीत सुनिश्चित करने के लिए काम करेगी।

उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को बारामती में भाजपा के प्रदर्शन को बेहतर करने के प्रयासों के समन्वय की जिम्मेदारी दी गई है, जहां पार्टी को पिछले चुनावों में अच्छी संख्या में वोट मिले थे। फडणवीस ने कहा कि इन 16 निर्वाचन क्षेत्रों में भाजपा प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए अपनी ऊर्जा केंद्रित करेगी। बारामती का प्रतिनिधित्व वर्तमान में राकांपा प्रमुख शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले कर रही हैं। यह सीट पवार परिवार का गढ़ मानी जाती है।



और भी पढ़ें :