अखिलेश यादव ने महंत नरेंद्र गिरि को दी श्रद्धांजलि, कहा- हाईकोर्ट के मौजूदा जज से करानी चाहिए जांच

हिमा अग्रवाल| Last Updated: मंगलवार, 21 सितम्बर 2021 (22:00 IST)
हमें फॉलो करें
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और लेटे हनुमान मंदिर के महंत नरेंद्र गिरि के निधन के बाद पूरे संत समाज और राजनीतिक महकमे में शोक की लहर है।
ALSO READ:

महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु की जांच के लिए SIT गठित

पूरे देश में नरेंद्र गिरि के अनुयायी यह मानने को तैयार नहीं हैं कि महंत नरेंद्र गिरि ने सुसाइड किया है और सुसाइड नोट छोड़ा है। बड़े संतों का कहना है कि महंत नरेन्द्र गिरि मजबूत दिल के थे। वे बड़े से बड़े विवाद को चुटकियों में सुलझा देते, देश के प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री योगी के सीधे संपर्क में रहने वाला महंत कभी आत्महत्या नहीं कर सकता है। आज सबसे पहले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेंद्र गिरि के अंतिम दर्शन के लिए प्रयागराज पहुंचे और उन्हें अंतिम नमन किया।



ALSO READ:
News : महंत की मौत का गहराता रहस्य? क्या बाघम्बरी मठ की अरबों की संपत्ति थी नरेन्द्र गिरि और आनंद गिरि के बीच विवाद का कारण?

यादव ने कहा कि यह बहुत अफसोस की बात है कि नरेंद्र गिरिजी ने आत्महत्या कर ली। गिरिजी ने हमेशा लोगों को जोड़ने का काम किया। उनकी मौत के बाद तरह-तरह के सवाल उठ रहे हैं। उनकी मौत की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। यह निष्पक्ष जांच एक सिटिंग जज की अगुवाई में होनी चाहिए।



और भी पढ़ें :