अजीत जोगी की तबीयत बिगड़ी, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

पुनः संशोधित शुक्रवार, 6 सितम्बर 2019 (14:24 IST)
रायपुर। अजीत जोगी (Ajit Jogi) की खराब होने के बाद उन्हें दिल्ली के (Medanta Hospital) में भर्ती कराया गया। वे छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री हैं। बिलासपुर जिले में जाति प्रमाण पत्र मामले में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।
जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक परेश बागबहरा ने शुक्रवार को बताया कि जोगी को गुरुवार देर रात सांस लेने में तकलीफ के बाद मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनके अनुसार जोगी पिछले कुछ दिनों से नियमित स्वास्थ्य जांच के लिए दिल्ली में हैं। बीती रात लगभग 12 बजे उन्हें सांस लेने में तकलीफ हुई तब उन्हें अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में उनकी पत्नी कोटा क्षेत्र की विधायक रेणु जोगी मौजूद हैं।
मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं : अस्पताल की ओर से अभी मेडिकल बुलेटिन जारी नहीं किया गया है। इस संबंध में मेडिकल बुलेटिन जारी होने के बाद ही अधिक जानकारी मिल सकेगी। 73 वर्षीय पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का परिवार इन दिनों जाति प्रमाण पत्र मामले को लेकर परेशानी का सामना कर रहा है।

जाति प्रमाण पत्र को लेकर मामला है दर्ज : उच्चस्तरीय प्रमाणीकरण छानबीन समिति, जो कि राज्य में जोगी की जाति की जांच के लिए बनी है, ने पिछले महीने उनके (जोगी के) कंवर आदिवासी होने के प्रमाण पत्र को खारिज कर दिया था। इसके बाद पिछले सप्ताह जिला प्रशासन ने अजीत जोगी के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। इसके अलावा वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान मरवाही विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी रही समीरा पैकरा ने भी गुरुवार को जोगी के खिलाफ फर्जी जाति प्रमाण प्राप्त करने के आरोप में मामला दर्ज कराया है।
अमित जोगी के खिलाफ भी आरोप : इधर पैकरा ने अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी के खिलाफ भी वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग को अपने जन्म स्थान के बारे में गलत जानकारी देने का मामला दर्ज कराया है। अमित जोगी बीते मंगलवार से जेल में हैं।
छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद अजीत जोगी राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने थे। वर्ष 2000 से वर्ष 2003 तक वे राज्य के मुख्यमंत्री रहे। इस दौरान वे अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित मारवाही विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे। वर्ष 2003 में कांग्रेस जब भाजपा से पराजित हुई तब रमन सिंह राज्य के मुख्यमंत्री बने।

अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी को जब कांग्रेस से निष्कासित किया गया था तब जोगी ने नई पार्टी का गठन कर लिया था। अभी वे जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के मुखिया हैं तथा मरवाही विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं।



और भी पढ़ें :