स्टेशन पर रह गए माता-पिता, दिल्ली से मथुरा पहुंचा डेढ़ साल का मासूम

Last Updated: गुरुवार, 24 दिसंबर 2020 (13:16 IST)
मथुरा। दिल्ली स्टेशन पर हुए एक सनसनीखेज घटनाक्रम में माता पिता तो स्टेशन पर ही रह गए और उनका डेढ़ साल का बच्चा से अकेले मथुरा पहुंच गया। रेलवे की मदद से कुछ ही घंटों में पूरा परिवार फिर साथ था।
रेलवे चाइल्ड लाइन के कोऑर्डिनेटर सईद ने बताया कि रविवार की शाम रेलवे नियंत्रण कक्ष से सूचना मिली की दिल्ली से बेंगलुरु जा रही कर्नाटक एक्सप्रेस (12628) में सवार होने के लिए स्टेशन पहुंचे एक परिवार के साथ यह हादसा हुआ है और माता-पिता स्टेशन पर रह गए हैं जबकि डेढ़ साल का बच्चा ट्रेन में सवार हो गया है।

उन्होंने बताया कि सूचना पाकर टीम मथुरा स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रही थी। प्राप्त सूचना के आधार पर टीम ने बच्चे को उतारा और उसके परिवार को सूचित किया।
उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले के जटपुराखेड़ा निवासी मुस्तकीम और उसकी पत्नी अपने बच्चे अदनान के साथ नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से रविवार की शाम साढ़े सात बजे कर्नाटक एक्सप्रेस में सवार होने वाले थे। स्टेशन पर ही उनकी दोस्ती बिजनौर निवासी हबीबा नामक महिला से हुई, जो अपने पति के साथ उसी ट्रेन पर सवार होने वाली थी।

उन्होंने बताया कि स्टेशन पर बातचीत के दौरान हबीबा ने अदनान को अपनी गोद में ले लिया और उसे लेकर ट्रेन की कोच संख्या एस -12 में सवार हो गई। लेकिन जब तक मुस्तकीम और उसकी पत्नी ट्रेन में सवार हो पाते, ट्रेन चल दी और दोनों स्टेशन पर ही रह गए।
सईद ने बताया कि मुस्तकीम ने तुरंत इसकी सूचना रेलवे को दी। रेलवे चाइल्ड लाइन ने राजकीय रेलवे पुलिस की मदद से बच्चे को बरामद कर लिया।

उन्होंने बताया कि देर रात डेढ़ बजे मुस्तकीम और उसकी पत्नी इंटरसिटी एक्सप्रेस से मथुरा पहुंचे। सामान्य औपचारिकताएं पूरी करने के बाद बच्चा उन्हें सौंप दिया गया। (भाषा)



और भी पढ़ें :