ब्रिटिशकालीन इमारत में भीषण आग

शिमला| भाषा| पुनः संशोधित मंगलवार, 28 जनवरी 2014 (18:11 IST)
हमें फॉलो करें
शिमला। ब्रिटिश काल की इमारत ‘गॉर्टन कैसल’ में मंगलवार तड़के लग गई जिससे इसकी दो मंजिलें जलकर राख हो गईं।


यह इमारत के एकाउंटेंट जनरल का कार्यालय थी। इस पांच मंजिला विरासत इमारत में तड़के करीब 3 बजे आग लगी और को तीन बज कर करीब 35 मिनट पर सूचना दी गई। शिमला, ठिओग और सोलन से करीब दर्जनभर दमकलकर्मी मौके पर पहुंचे। सेना को भी बुलाया गया।
देखते ही देखते ब्रिटिश काल की वास्तुकला का बेजोड़ नमूना कहलाने वाली यह इमारत लपटों में घिर गई। दमकल अधिकारियों ने बताया कि शहर के लगभग हर हिस्से से लपटें देखी जा सकती थीं।


करीब पांच घंटे की मेहनत के बाद सुबह लगभग 10 बज कर 30 मिनट पर आग पर काबू पाया गया। वर्ष 1904 में बनाई गई इस इमारत के जीर्णोद्धार और साजसज्जा पर करोड़ों रुपए खर्च किए गए थे। आज सुबह जब इमारत में आग लगी तब यहां मरम्मत का काम चल रहा था।

आग बुझाने के अभियान की निगरानी कर रहे शिमला के उपायुक्त दिनेश मल्होत्रा ने बताया कि इमारत की दो मंजिलें जल कर पूरी तरह नष्ट हो गईं और ऑफिस रिकॉर्ड्स, कंप्यूटर, फर्नीचर तथा अन्य सामान या तो नष्ट हो गया या क्षतिग्रस्त हो गया। आग लगने के कारण की जानकारी नहीं है। वास्तविक नुकसान का आकलन अभी किया जाना है।

इसी इमारत में भारत के एकाउंटेंट जनरल का कार्यालय 50 के दशक तक रहा। इसके बाद केंद्र सरकार का कार्यालय दिल्ली स्थानांतरित हो गया। पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के एकाउंटेंट जनरल का कार्यालय यहां 80 के दशक के शुरू तक रहा लेकिन फिलहाल यहां हिमाचल प्रदेश के एकाउंटेंट जनरल का कार्यालय था। (भाषा)



और भी पढ़ें :