असैद्धांतिक है भाजपा-लोजपा गठबंधन: नीतीश

पटना| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 28 फ़रवरी 2014 (18:57 IST)
FILE
पटना। भाजपा और लोजपा के गठबंधन को ‘असैद्धांतिक’ बताते हुए बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि लोजपा प्रमुख एक ऐसे नेता हैं जिन्होंने साबित कर दिया कि राजनीति में विचारधारा नाम की कोई चीज नहीं होती।

आगामी लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा और लोजपा के बीच हुए गठबंधन पर प्रतिक्रिया देते हुए कुमार ने कहा कि इस गठबंधन का सिद्धांतों से कुछ लेना-देना नहीं है। यह विचित्र है, लेकिन सच है।

तीखी टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि 'जैसी परिस्थिति, वैसा निर्णय, वैसा रास्ता'। पासवान की आलोचना करते हुए कुमार ने कहा कि लोजपा नेता ने यह स्पष्ट कर दिया है कि उनके (पासवान के) शब्दों और कार्यों पर विश्वास नहीं किया जा सकता। परिस्थितियों के हिसाब से जो उनके लिए उपयुक्त होता है, वे वही करते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा कोई दूसरा मामला नहीं हो सकता और देश में कोई दूसरा व्यक्ति ऐसा नहीं कर सकता। संयोगवश जदयू के नेता और रामविलास पासवान अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार के एक ही मंत्रिमंडल में थे, लेकिन वर्ष 2002 के गोधरा दंगों के विरोध में पासवान इस गठबंधन से हट गए थे।

लोजपा ने बिहार में आगामी आम चुनाव को देखते हुए गुरुवार रात भाजपा से हाथ मिला लिया। दोनों के बीच हुए समझौते के अनुसार लोजपा को राज्य की 40 में से 7 सीटें मिली हैं। पासवान के अपनी पारंपरिक हाजीपुर सीट से ही चुनाव लड़ने की संभावना है। (भाषा)



और भी पढ़ें :