0

शैलेंद्र तिवारी की नई किताब 'लंका रावण की नगरी' लांच

बुधवार,जुलाई 1, 2020
0
1
श्री राम रक्षा स्तोत्र बुध कौशिक ऋषि द्वारा रचित श्रीराम का स्तुति गान है। इसमें प्रभु श्री राम के अनेकों नाम का गुणगान किया है। आ जानते हैं कि इसका पाठ करने के 10 रहस्य।
1
2
भगवान राम का काल ऐसा काल था जबकि धरती पर विचित्र किस्म के लोग और प्रजातियां रहती थीं, लेकिन प्राकृतिक आपदा या अन्य कारणों से ये प्रजातियां अब लुप्त हो गई हैं। आज यह समझ पाना मुश्‍किल है कि कोई पक्षी कैसे बोल सकता है। रामायण काल में बंदर, भालू आदि की ...
2
3
भगावान श्रीराम और श्रीकृष्ण में समानताएं ढूंढना बहुत ही मुश्किल है लेकिन फिर भी उन दोनों के बीच कुछ कॉमन जरूर था। उन्हीं में से यहां प्रस्तुत है 10 समानताएं।
3
4
वाल्मीकि कृत रामायण को पढ़ने और रामानंद सागर की रामायण को देखने में बहुत फर्क है। पढ़ने के दौरान आपको जीवन, ज्ञान और धर्म की कई बातें पढ़ने और सीखने को मिलेगी। आओ जानते हैं कि हम राम या रामायण से क्या सीख सकते हैं।
4
4
5
कैकेयी निंदा की पात्र है या वंदना की अथवा तो कैकेयी रघुवंश का हित चाहती थी य़ा अनहित। एक संत का कहना है कि कैकेयी वंदनीया और सिर्फ वंदनीया ही है।
5
6
वाल्मीकि रामायण में प्रभु श्रीराम के पुत्र लव और कुश की गाथा का बहुत ही मार्मिक वर्णन किया गया है। सीता जब गर्भवती थीं तभी श्रीराम के कहने पर लक्ष्मण उन्हें वाल्मीकि आश्रम छोड़ आए थे। लव और कुश का जन्म वहीं हुआ और वहीं उनका पालन पोषण, शिक्षा और ...
6
7
वाल्मीकि कृत रामायण में मंथरा की बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका बताई गई थी। उसी के कारण प्रभु श्रीराम को 14 वर्ष के लिए वनवास भोगना पड़ा था। मंथरा और रानी कैकेयी केकय देश की थीं। आओ जानते हैं कि आखिर यह मंथरा कौन थीं।
7
8
अश्‍वमेध या अश्वमेघ यज्ञ के बारे में कई तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं। आखिर जानते हैं कि यह यज्ञ क्या होता है और क्यों इसके अश्‍व अर्थात घोड़े को छोड़ा जाता है राज्य की सीमाओं के बाहर। यहां प्रस्तुत है अश्वमेघ यज्ञ के बारे में संक्षिप्त और सामान्य ...
8
8
9
यदि आपका जीवन योजनाओं से युक्त नहीं है तो वह निष्फल होगा या कहें कि वह रेंडमली होगा। एक सफल मैनेजर या शासक वही है जो योजनाएं बनाता हैं और निरंतर उसे अपडेट करता रहता है। शास्त्र कहते हैं कि सभी को मैनेज किया जा सकता है लेकिन ग्रहों की चाल और मनुष्य ...
9
10
लव और कुश राम तथा सीता के जुड़वां बेटे थे। जब राम ने वानप्रस्थ लेने का निश्चय कर भरत का राज्याभिषेक करना चाहा तो भरत नहीं माने। अत: दक्षिण कौशल प्रदेश (छत्तीसगढ़) में कुश और उत्तर कौशल में लव का अभिषेक किया गया।
10
11
माना जाता है कि रणक्षेत्र में वानर सेना तथा राम-लक्ष्मण में भय और निराशा फैलाने के लिए रावण के पुत्र मेघनाद ने अपनी शक्ति से एक मायावी सीता की रचना की, जो सीता की भांति ही नजर आ रही थीं। मेघनाद ने उस मायावी सीता को अपने रथ के सामने बैठाकर रणक्षेत्र ...
11
12
देवी सीता मिथिला के राजा जनक की ज्येष्ठ पुत्री थीं इसलिए उन्हें 'जानकी' भी कहा जाता है। कहते हैं कि राजा जनक को माता सीता एक खेत से मिली थी। इसीलिए उन्हें धरती पुत्री भी कहा जाता है। आओ जानने हैं उनके भाई बहनों के बारे में।
12
13
अपवाद को छोड़ दें तो प्रत्येक सफल पुरुष के पीछे नारी का योगदान और बलिदान छिपा होता है। आओ जानते हैं कि श्रीराम को मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम बनाने में किन 4 नारियों का खास योगदान रहा है। लेकिन कहते हैं कि यह तो सभी प्रभु श्रीराम की लीला ही ...
13
14
वाल्मीकि रामायण, रामचरितमानस, रामचन्द्रिका, साकेत, साकेत सन्त, पंचवटी आदि ग्रंथों में सूर्पणखा के बारे में जानकारी मिलती है। यह सभी जानते हैं कि लक्ष्मण ने सूर्पणखा की नाक काट दी थी। आओ जानते हैं सूर्पणखा के बारे में 10 रोचक जानकारी।
14
15
रामायण या रामचरित मानस के उत्तर कांड के संबंध में बहुत लोगों को इस बात का संशय है कि इसमें घटनाओं का वर्णन वैसा नहीं है जैसा कि शोधकर्ता मानते हैं। रामायण और रामचरित मानस दोनों ही का उत्तर कांड बहुत ही भिन्न है। ऐसा क्यों? यह शोध का विषय हो सकता है। ...
15
16
अयोध्या के राजा दशरथ के चार पुत्रों में सबसे बड़े पुत्र थे भगवान राम। दशरथ की तीन पत्नीयां थी- कौशल्या, सुमीत्रा और कैकयी। राम के तीन भाई थे। लक्ष्मण, भरत और शत्रुध्न। राम कौशल्या के पुत्र थे। सुमीत्रा के लक्ष्मण और शत्रुध्न दो पुत्र थे। कैकयी के ...
16
17
रामायण अनुसार राजा दशरथ के तीसरे पुत्र थे लक्ष्मण। उनकी माता का नाम सुमित्रा था। वास्तव में लक्ष्मण का वनवास राम के वनवास से भी अधिक महान है। 14 वर्ष पत्नी से दूर रहकर उन्होंने केवल राम की सेवा को ही अपने जीवन का ध्येय बनाया। लक्ष्मण के लिए राम ही ...
17
18
वाल्मीकि कृत रामायण के उत्तर कांड में लवणासुर के वध की कथा का वर्णन मिलता है। लवणासुर एक क्रूर असुर था। आओ जा‍नते हैं उसके संबंध में 6 खास बातें।
18
19
वाल्मीकि रामायण के उत्तर कांड की रामायण अनुसार समाज के द्वारा माता सीता को अपवित्र माने के कारण राम और सीता के आदेश के चलते लक्ष्मण उन्हें वाल्मीकि आश्रम में छोड़कर आ जाते हैं। वाल्मीकि आश्रम में सीता वनदेवी के नाम से रहती हैं। उस समय वह गर्भवती ...
19