गुरुवार, 25 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. धर्म-संसार
  2. व्रत-त्योहार
  3. तीज त्योहार
  4. Magh Purnima 2024
Written By WD Feature Desk

माघ पूर्णिमा के दिन क्या-क्या करते हैं?

माघ पूर्णिमा के दिन क्या-क्या करते हैं? - Magh Purnima 2024
Magh Purnima Festival 2024 
 
HIGHLIGHTS
 
• माघ पूर्णिमा के कार्य।
• माघ पूर्णिमा पर करें या खास कार्य। 
• माघ पूर्णिमा कब है 2024 में। 
What do the day of Magh Purnima : वर्ष 2024 में माघी पूर्णिमा का पावन पर्व शनिवार, 24 फरवरी को मनाया जा रहा है। हिन्दू धर्मग्रंथों के अनुसार माघ मास बहुत ही पवित्र महीना माना जाता है। इस माह में स्नान-पूजा, दानादि कार्य करने का विशेष महत्व माना गया है। 
 
मान्यता हैं कि इस महीने में देवता भी धरती पर आकर प्रयाग के संगम में स्नान करते हैं। अत: पितरों का श्राद्ध, स्नान, दान और पूजा का महत्व यहां पर अधिक बढ़ जाता है। ऐसा करने से हर तरह की मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और मोक्ष की प्राप्ति होती है। तथा इस दिन दान-दक्षिणा का बत्तीस गुना फल प्राप्त होता है। अत: इसे माघी पूर्णिमा के अलावा बत्तिसी पूर्णिमा भी कहते हैं। 
 
आइए जानते हैं यहां इस दिन क्या करें- 
 
माघ पूर्णिमा पर करें ये कार्य :
 
माघ पूर्णिमा पर करें ये कार्य :
 
1. माघ पूर्णिमा के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर पवित्र नदी में स्नान करते हैं। 
2. नदी पर नहीं जा सकते हैं तो थोड़ा गंगाजल घर में पानी में मिलाकर स्नान करें। 
3. स्नान के बाद सूर्य देव को अर्घ्य अर्पित करें। 
4. सूर्य को अर्घ्य अर्पित करते वक्त उनका मंत्र 'ॐ घृणिं सूर्य्य: आदित्य' बोलें।
5. फिर श्री हरि विष्णु की पूजा करें। 
6. षोडशोपचार पूजा नहीं कर सकें तो दशोपचार या पंचोपचार पूजा करें।
7. पंचोपचार यानी पांच प्रकार की सामग्री से उनकी पूजा करें, गंध, पुष्प, धूप, दीप और नैवेद्य अर्पित करने के बाद आरती उतारें।
8. इस दिन तिल और काले तिल विशेष रूप से दान में देना चाहिए।
9. इसके बाद मध्याह्न काल में किसी गरीब व्यक्ति को भोजन कराकर दान-दक्षिणा दें।
10. माघ माह में काले तिल से हवन और काले तिल से पितरों का तर्पण करें।
 
अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष, इतिहास, पुराण आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित  वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं, जो विभिन्न सोर्स से लिए जाते हैं। इनसे संबंधित सत्यता की पुष्टि वेबदुनिया नहीं करता है। सेहत  या ज्योतिष संबंधी किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। इस कंटेंट को जनरुचि को ध्यान में रखकर यहां प्रस्तुत किया गया है जिसका कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है।
ये भी पढ़ें
आज माघ पूर्णिमा, जानें महत्व और कथा