Navratri 2019 : नवरात्रि पर्व में मां दुर्गा के किस रूप की करें आराधना (जानिए अपनी राशिनुसार)

- पं. सुरेन्द्र बिल्लौरे

इस वर्ष 29 सितंबर 2019, रविवार से मां दुर्गा का पावन पर्व शारदीय नवरात्रि का आरंभ हो रहा हैं। संसार की उत्पत्ति के समय से जन्म-मृत्यु, जरा-व्याधि, लाभ-हानि का चक्र चला आ रहा है। मनुष्य आपत्ति-विपत्ति के समय अपने इष्ट देवता, कुल देवता, गुरु अथवा अपने पितृ देवता के शरण में जाता है।

त्रिपुर सुंदरी, राज-राजेश्वरी, ममतामयी मां दुर्गा देवी, जिनके नौ रूपों के अतिरिक्त भी अनन्य रूप है, इन रूपों में से किसी भी रूप की शरण में जाकर भक्त मां की आराधना करता है, तो मां अवश्य अपने भक्त को शरण में लेकर उसके कष्टों को दूर कर देती है, अत: भक्तों को मां के शरण में जाकर उनकी आराधना करना चाहिए।

नवरात्रि में राशि अनुसार मां के किस रूप की आराधना करनी चाहिए। आइए जानें :-

1. मेष राशि वाले जातक 'मां मंगला देवी' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ मंगला देवी नम:' का जाप करें।

2. वृषभ राशि वाले जातक 'मां कात्यायनी' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ कात्यायनी नम:' का जाप करें।

3. मिथुन राशि वाले जातक 'मां दुर्गा' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ दुर्गाये नम:' का जाप करें।

4. कर्क वाले जातक 'मां शिवाधात्री' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ शिवाय नम:' का जाप करें।

5. सिंह राशि वाले जातक 'मां भद्रकाली' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ कालरूपिन्ये नम:' का जाप करें।

6. कन्या राशि वाले जातक 'मां जयंती' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ अम्बे नम:' या 'मंत्र- 'ॐ जगदंबे नम:'' का जाप करें।

7. तुला राशि वाले जातक मां के 'क्षमा रूप' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ दुर्गादेव्यै नम:' का जाप करें।

8. वृश्चिक राशि वाले जातक 'मां अम्बे' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ अम्बिके नम:' का जाप करें।

9. धनु राशि वाले जातक 'मां दुर्गा' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ दूं दुर्गाये नम:' का जाप करें।

10. मकर राशि वाले जातक मां के 'शक्ति रूप' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ दैत्य-मर्दिनी नम:' का जाप करें।

11. कुंभ राशि वाले जातक 'मां चामुण्डा' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ चामुण्डायै नम:' का जाप करें।

12. मीन राशि वाले जातक 'मां तुलजा' की आराधना करें।

मंत्र- 'ॐ तुलजा देव्यै नम:' का जाप करें।

इन सरलतम जाप से जो भी भक्त मां भगवती की आराधना करता है, मां उस भक्त की हर मनोकामना पूर्ण करती है। नवरात्रि का यह पर्व 29 सितंबर से शुरू होकर 7 अक्टूबर 2019 तक जारी रहेगा।






और भी पढ़ें :