शुक्रवार, 27 जनवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. What will be the effect on Indians due to 5G, will internet and web services be cheaper?
Written By
Last Updated: शनिवार, 1 अक्टूबर 2022 (13:34 IST)

5G आने से भारतीयों को क्‍या फायदा होगा, क्‍या सस्‍ता होगा इंटरनेट और वेब सर्विसेस?

एक अक्‍टूबर से भारत में 5G सेवा की शुरुआत हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को इंडियन मोबाइल कांग्रेस में देश को 5G इंटरनेट स्पीड की सौगात दी। देश के 13 शहरों में लोग इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। दिसंबर 2023 में पूरे देश में लोगों को यह सुविधा मिल सकेगी। अब इंटरनेट की स्‍पीड कई गुना बढ़ जाएगी। अब तक इंटरनेट की धीमी से कई काम अटक जाते थे। लेकिन सवाल यह भी है कि आखिर तकनीक की इस रफ्तार से आम भारतीयों को क्‍या और कितना फायदा होगा। क्‍या इंटरनेट सस्‍ता होगा और वेब सर्विसेस भी सस्‍ती होगी। आइए जानते हैं क्‍या असर हो सकता है।

5G शुरू होने से क्या फायदे होंगे?
रोजगार में इजाफा : कहा जा रहा है कि इंटरनेट स्‍पीड अपग्रेड होने से अब स्‍मार्ट डिवाइस का इस्‍तेमाल बढ़ जाएगा। जाहिर है इससे मोबाइल डिवाइसेस का प्रोडक्‍शन बढ़ेगा। जिससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे। एआर, वीआर, और गेमिंग के सेक्‍टर में नौकरियां बढने की बात कही जा रही है। तकनीक के क्षेत्र में भारत आत्‍म निर्भर हुआ, तो तकनीकी सेक्‍टर में रोजगार बढ़ेंगे।

आसान होगी डाउनलोडिंग : अब तक कई हैवी फाइलें और विजुअल्‍स, फिल्‍में आदि डाउनलोड होने में काफी वक्‍त लगता है। लेकिन अब 5जी आने के बाद कहा जा रहा है कि 3 घंटे की फिल्‍म 3 सेकंड में डाउनलोड हो जाएगी। इसी तरह कई काम जो घंटों में होते हैं उनमें कुछ ही मिनट का वक्‍त लगेगा।

डिजिटल क्रांति : बैंकिंग, शॉपिंग से लेकर ​एजुकेशन और हेल्थ सेक्टर तक काफी कुछ इंटरनेट आधारित हो चुका है। ऐसे में 5G सेवा शुरू होने से भारत में काफी कुछ बदलने वाला है। यह न केवल लोगों की लाइफ बहुत आसान कर देगा, बल्कि कम्यूनिकेशन और एंटरटेनमेंट की दुनिया में यह नई क्रांति लेकर आएगा। अब इंटरनेट की स्पीड बहुत तेज हो जाएगी।

5जी के फायदे की खास बातें
  • मौजूदा 4G इंटरनेट से करीब 10 गुना ज्यादा स्‍पीड बताई जा रही है।
  • वॉट्सऐप या गूगल डुओ में वीडियो कॉल बिना अटके एकदम स्‍पष्‍ट नजर आएगा।
  • यूट्यूब या ओटीटी पर एचडी वीडियो बिना बफरिंग के चलेगा।
  • 10 से 20 सेकेंड से भी कम समय में 2 जीबी की फिल्‍म डाउनलोड हो सकेगी।
  • चालक रहित वाहन यानी बिना ड्राइवर वाली गाड़ी, ड्राइवरलेस मेट्रो आदि का संचालन ज्‍यादा आसान हो जाएगा।
  • हेल्थ, होटल, हॉस्पिटैलिटी, साइंस में रोबोट का यूज करना आसान होगा। शिक्षा, पढाई के क्षेत्र में क्रांति आएगी। कोई भी कहीं से भी पढाई कर सकेगा।  
  • एजुकेशन और हेल्थकेयर सेक्टर में सुविधाएं आसान हो जाएंगी।
  • एग्रीकल्चर सेक्टर में ड्रोन का इस्तेमाल और ज्यादा आसान हो जाएगा।
  • इंटरनेट ऑफ थिंग्स के जरिए ज्यादा से ज्यादा कंप्यूटर कनेक्ट करना आसान होगा।
  • एआर, वीआर और गेमिंग में क्रांति आएगी, इससे इन सेक्‍टरों में नौकरियां और रोजगार बढेंगे।  
  • वीडियो गेमिंग सेक्टर में 5G के आने से बहुत कुछ बदल जाएगा।
क्या है 5जी?
5G मोबाइल नेटवर्क की फिफ्थ जेनरेशन है। 5G सेल्यूलर सेवा की लेटेस्ट टेक्नोलॉजी है। इसे 4G नेटवर्क का अगला वर्जन कह सकते हैं। इसके तहत यूजर्स को बहुत तेज नेट स्पीड, कम लेटेंसी और ज्यादा फ्लेक्सिबिलिटी देखने को मिलेगी। अब तक की सेल्यूलर टेक्नोलॉजी कनेक्टिविटी पर फोकस करती थी, लेकिन 5G सेल्यूलर टेक्नोलॉजी इससे एक कदम आगे है। यह क्लाउड से क्लाइंट को सीधे कनेक्ट करेगी।

कैसे काम करता है 5G?
दरअसल 5जी में सी बैंड का रेंज 3.7 से 3.98GHz होता है और ये अल्टीमीटर 4.2 से 4.4GHZ की रेंज में काम करते हैं। ऐसे में 5जी के बैंड की फ्रीक्वेंसी और अल्टीमीटर रेडियो की फ्रीक्वेंसी काफी करीब हो रही है। जिससे अच्‍छी स्‍पीड मिलती है।

Edited: By Navin Rangiyal
ये भी पढ़ें
इटली की निर्वाचित प्रधानमंत्री मेलोनी और मोदी में कितनी समानताएं हैं?