मई में 121 साल में दूसरी बार सबसे ज्यादा बारिश, नहीं चली लू, जानिए क्या है वजह...

पुनः संशोधित शुक्रवार, 11 जून 2021 (07:23 IST)
नई दिल्ली। भारत विज्ञान विभाग (IMD) ने अपनी मासिक रिपोर्ट में कहा कि इस साल माह सर्वाधिक के मामले में पिछले 121 साल में दूसरे नंबर पर रहा। इसकी वजह लगातार आए दो और पश्चिमी विक्षोभ है।
ALSO READ:
Monsoon Tracker : की चेतावनी, तेज हवाओं के साथ इन राज्यों में हो सकती है बारिश
आईएमडी ने यह भी कहा कि भारत में इस बार मई में औसत अधिकतम तापमान 34.18 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो 1901 के बाद चौथा सबसे कम तापमान था। यह 1977 के बाद सबसे कम है जब अधिकतम तापमान 33.84 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था। मई में अबतक सबसे कम पारा 1917 में 32.68 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।
मौसम विभाग के अनुसार, भारत के किसी भी हिस्से में मई में लू नहीं चली। पूरे देश में मई 2021 में 107.9 मिमी बारिश हुई है जो औसत 62 मिमी वर्षा से ज्यादा है। इससे पहले 1990 में सर्वाधिक बारिश (110.7 मिमी) हुई थी।

आईएमडी ने कहा कि मई में अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में चक्रवात आए। अरब सागर में चक्रवात ताउते आया तो बंगाल की खाड़ी में चक्रवात ‘यास’ आया। 2021 की गर्मियों के तीनों महीनों में उत्तर भारत के ऊपर पश्चिम विक्षोभ की गतिविधियां सामान्य से ज्यादा रही।



और भी पढ़ें :