एलओसी के पास सेना के कैंप पर हमला, 3 जवान शहीद, 2 आतंकी ढेर...

श्रीनगर| सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: गुरुवार, 27 अप्रैल 2017 (11:04 IST)
श्रीनगर। कश्‍मीर घाटी के कुपवाड़ा जिले में गुरुवार सुबह अंधेरे का लाभ उठाकर आतंकवादियों के एक समूह ने एलओसी के करीब सेना के शिविर पर स्वचालित हथियारों और ग्रेनेड से हमला कर दिया। इस फिदायीन हमले में 3 सैनिक मारे गए हैं जिनमें एक अधिकारी है। जवाबी कार्रवाई में 2
फिदायीन भी मारे गए हैं।

सेना के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि आतंकियों ने गुरुवार सुबह चौकीबल स्थित
सेना कैंप पर हमला किया और यह एक 'सरप्राइज अटैक' था। उन्होंने बताया कि इसके बाद जवाबी कार्रवाई की गई जिसमें 2 आतंकी मारे गए। इसके बाद वहां तलाशी अभियान चल रहा है।

सूत्रों के अनुसार कुपवाड़ा जिले के पंजगाम में गुरुवार सुबह अंधेरे का लाभ उठाकर आतंकवादियों के एक समूह ने सेना के शिविर पर स्वचालित हथियारों और ग्रेनेड से हमला कर दिया। बताया जा रहा है कि इस हमले में 4 आतंकी शामिल थे। सेना के मुस्तैद जवानों ने
आतंकवादियों के इस हमले का करारा जवाब दिया और 2 आतंकवादियों को मार गिराया।

मिली जानकारी के मुताबिक आतंकवादियों ने सुबह 4 बजे सेना के शिविर पर हमला किया। फायरिंग करीब 4 घंटे तक जारी रही। सर्च अभियान जारी है।

रिपोर्टों के मुताबिक यह शिविर
सेना का आर्टिलरी बेस है। पंजगाम, श्रीनगर से 87 किमी तो पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) की राजधानी से करीब 74 किमी दूर है। हमले में 5 जवान घायल भी हुए हैं। घायल
जवानों को श्रीनगर आर्मी अस्पताल में भर्ती कराने के लिए एयरलिफ्ट किया गया है।

कुपवाड़ा का यह सैन्य शिविर एलओसी के पास बताया जा रहा है। 9 अप्रैल को श्रीनगर में
उपचुनाव के दौरान भड़की हिंसा के बाद यह हमला हुआ है। इस उपचुनाव में मतदान महज 7
फीसदी हुआ था, लेकिन सुरक्षाबलों के साथ झड़प में कम से कम 10 लोग मारे गए थे। उपचुनाव में भड़की हिंसा के बाद से कश्मीर में तनाव चरम पर है। सरकार ने इंटरनेट सेवा पर पाबंदी लगा दी है। विरोध-प्रदर्शन के डर से स्कूल और कॉलेज भी बंद हैं।

पिछले साल भारतीय कश्मीर में उड़ी में सेना के शिविर पर ऐसा ही एक हमला हुआ था जिसमें 19 सैनिक मारे गए थे।




और भी पढ़ें :