तेजिंदर बग्गा की गिरफ्तारी पर बवाल, दिल्ली पुलिस ने पंजाब पुलिस पर क्यों दर्ज किया अपहरण का मामला?

Last Updated: शुक्रवार, 6 मई 2022 (18:50 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। द्वारा भाजपा के नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को गिरफ्तार किए जाने के बाद ने शुक्रवार को इस सिलसिले में अपहरण का मामला दर्ज किया। बग्गा के पिता प्रीतमपाल ने शिकायत की कि शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे कुछ लोग उनके घर आए और उनके बेटे को ले गए। दिल्ली पुलिस ने जनकपुरी थाने में बग्गा के अपहरण का मामला दर्ज किया है।
ALSO READ:

तेजिंदर बग्गा की गिरफ्तारी पर बवाल, पंजाब पुलिस के काफिले को हरियाणा ने रोका, दिल्ली में FIR
प्रीतम पाल ने कहा कि आज सुबह मैं और मेरा बेटा तेजिंदर घर पर थे। सबसे पहले 2 पुलिसवाले घर पर आए। इसके बाद पंजाब के 10 से 15 पुलिसकर्मी आ गए। उन्होंने मेरे चेहरे पर पंच मारा। उन्होंने तेजिंदर के बारे में पूछा और उसे गिरफ्तार करके ले गए। इसके बाद दिल्ली पुलिस पंजाब पुलिस से पूछ रही है कि आपने हमें इस मामले में पहले जानकारी क्यों नही दी?

पंजाब पुलिस ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा कि उसने भाजपा की दिल्ली इकाई के प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को पिछले महीने मोहाली में उनके खिलाफ दर्ज एक मामले के सिलसिले में राष्ट्रीय राजधानी स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया है। पंजाब पुलिस के अनुसार, बग्गा को पंजाब ले जाया जा रहा है, जहां उन्हें एक अदालत में पेश किया जाएगा।

पंजाब पुलिस ने बताया कि 1 अप्रैल को दर्ज की गई प्राथमिकी के मुताबिक, 30 मार्च को बग्गा ने दिल्ली में मुख्यमंत्री आवास के बाहर भाजपा युवा मोर्चा के विरोध-प्रदर्शन में हिस्सा लिया था और कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।
इस बीच ने पंजाब पुलिस को कुुुुुुरुक्षे में रोक लिया। अब पंजाब पुलिस अब इस मामले में हाईकोर्ट की शरण लेने की तैयारी कर रही है। अब हरियाणा पुलिस को जवाब देना होगा कि पंजाब पुलिस को क्यों रोका गया।

मोहाली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कुरुक्षेत्र के एसपी से कहा, तेजिंदर बग्गा को मोहाली ला रहे पंजाब पुलिस के अधिकारियों को हरियाणा में रोकना अवैध हिरासत के समान।
गौरतलब है कि पंजाब पुलिस ने पिछले महीने भड़काऊ बयान देने, शत्रुता को बढ़ावा देने और आपराधिक धमकी देने के आरोप में बग्गा के खिलाफ मामला दर्ज किया था। पुलिस ने मोहाली में रहने वाले सन्नी अहलूवालिया नामक एक व्यक्ति की शिकायत के आधार पर यह मामला दर्ज किया था।





और भी पढ़ें :