किसान आंदोलन, शरद पवार की सचिन तेंदुलकर को नसीहत

पुनः संशोधित रविवार, 7 फ़रवरी 2021 (00:20 IST)
पुणे। राकांपा अध्यक्ष ने शनिवार को कहा कि मशहूर क्रिकेटर को किसानों के बारे में बोलने के दौरान काफी सावधानी बरती चाहिए।
अमेरिकी गायिका रिहाना और पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग सहित कुछ विदेशी शख्सियतों के प्रदर्शनकारी किसानों के समर्थन में ट्वीट के बाद तेंदुलकर और प्रख्यात गायिका लता मंगेशकर सहित विभिन्न हस्तियों ने सोशल मीडिया पर ‘इंडिया टुगैदर’ और ‘इंडिया अगेन्स्ट प्रोपेगैंडा’ हैशटैग से सरकार के रुख के समर्थन में ट्वीट किए थे।
तेंदुलकर और मंगेशकर जैसी हस्तियों की ओर से किसान आंदोलन के संबंध में प्रतिक्रिया दिए जाने के सवाल पर पवार ने कहा कि लोगों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा कि मैं सचिन तेंदुलकर को सुझाव दूंगा कि उन्हें अन्य क्षेत्रों से जुड़े मुद्दों पर बयान देने से पहले सावधानी बरतनी चाहिए।
पवार ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार किसानों को खालिस्तानी और आतंकवादी कहकर आंदोलन को बदनाम कर रही है। पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि ये प्रदर्शनकारी किसान हैं जो कि हमारे देश का पेट भरते हैं। इसलिए इन्हें खालिस्तानी या आतंकवादी कहना उचित नहीं है।



और भी पढ़ें :