BJP अपने शासित राज्यों में शराब खरीदी की न्यूनतम उम्र 25 वर्ष कर दे, हम दिल्ली में 30 साल करा देंगे- सौरभ भारद्वाज

Last Updated: मंगलवार, 23 मार्च 2021 (18:44 IST)
नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा दिल्ली प्रमुख आदेश गुप्ता भाजपा शासित राज्यों में खरीदने की न्यूनतम आयु 25 वर्ष करा दें, हम दिल्ली में 30 साल करा देंगे। भाजपा शासित राज्य उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, अरुणाचल प्रदेश में शराब खरीदने की उम्र 21 साल है। गोवा में भाजपा का शासन 15 साल से है और वहां पर यह उम्र सीएम 18 साल रखी गई है।
ALSO READ:
सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, ज्यादा शराब पीने से हुई मौत, नहीं मिलेगा बीमा

उन्होंने कहा कि भाजपा राजस्व की चोरी और कालाबाजारी करने के उद्देश्य से यह कोशिश कर रही है। जब रेस्टॉरेंट या बार में 21 साल के युवा दिखाई देते हैं, तो पुलिस और दूसरे विभाग के लोग वहां पर छापेमारी कर रेस्टॉरेंट इंडस्ट्री से पैसा वसूलते हैं। रेस्टॉरेंट इंडस्ट्री से वसूला गया पैसा ऊपर तक जाता है। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता अपनी केंद्र सरकार से कानून बनवा दें कि पूरे देश के अंदर शराब खरीदने और सेवन करने की उम्र 25 साल हो जाए। इससे पूरे देश में उम्र सीमा एक जैसी हो जाएगी।
आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने पार्टी मुख्यालय में मंगलवार को प्रेसवार्ता को संबोधित किया। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मैं भाजपा के दोहरे चरित्र को लेकर हैरान हूं। मुझे आज तक किसी अन्य राजनीतिक पार्टी के अंदर ऐसा दोहरा चरित्र देखने को नहीं मिला है। राजनीति के अंदर थोड़ी सी शर्म-लिहाज होनी चाहिए। भाजपा शासित राज्यों के अंदर शराब खरीदने और सेवन करने की उम्र सीमा कई सालों से 21 साल है।

उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश, अरुणाचल प्रदेश सहित दर्जनों राज्यों के अंदर शराब पीने की उम्र सीमा 21 साल है। गोवा के अंदर भाजपा का शासन 15 साल से है और वहां पर यह उम्र सीमा मात्र 18 साल रखी गई है।
सौरभ भारद्वाज ने आगे कहा कि मैं भाजपा के नेता आदेश गुप्ता, रामवीर बिधूड़ी को चुनौती देता हूं कि वे अपने भाजपा शासित राज्यों में शराब खरीदने और सेवन करने की उम्र सीमा को 25 साल करा दें, उसके बाद हम दिल्ली में उम्र सीमा 30 साल करा देंगे।
उन्होंने कहा कि सिर्फ और सिर्फ राजस्व की चोरी और कालाबाजारी करने के उद्देश्य से भाजपा दिल्ली सरकार की आबकारी नीति का विरोध करने की कोशिश है। उन्होंने बताया कि अगर आप ऐसे रेस्टॉरेंट में जाते हैं, जहां शराब परोसी जाती है। ऐसे रेस्टॉरेंट्स में अक्सर 21 साल के युवा मिलते हैं। इन रेस्टॉरेंट में पुलिस का जब मन करता है, तब छापेमारी कर देती है। इसके अलावा, दूसरे विभाग भी छापेमारी कर रेस्टॉरेंट इंडस्ट्री से पैसा वसूलते हैं। दिल्ली सरकार की नई आबकारी नीति से रेस्टॉरेंट इंडस्ट्री से पुलिस का हफ्ता वसूलना कम हो जाएगा। वसूली का पैसा, जो सीधे-सीधे ऊपर तक जाता है, वह कम हो जाएगा। इसलिए भाजपा के पेट में दर्द हो रहा है।
उन्होंने कहा कि भाजपा को मैं पुन: चुनौती दे रहा हूं कि वे अपने भाजपा शासित राज्यों के अंदर इस उम्र सीमा को 25 साल करा दें या फिर केंद्र सरकार से कानून ही बनवा दें। भाजपा की केंद्र सरकार अब तो हर चीज को लेकर कानून बनने लगी है। भाजपा नेता केंद्र सरकार से कानून बनवा दें कि पूरे देश के अंदर शराब खरीदने और सेवन करने की उम्र सीमा 25 साल होगी। इससे पूरे देश के अंदर उम्र सीमा एक जैसी हो जाएगी। भाजपा यह राजनीतिक दोगलापन करना बिलकुल बंद करे और थोड़ी सी शर्म करे।
देश के अलग-अलग राज्यों में शराब खरीदने व सेवन करने की उम्र सीमा

राज्य

उम्र


गोवा : 18
हिमाचल प्रदेश : 18
जम्मू-कश्मीर : 18
कर्नाटक : 18
लद्दाख : 18
राजस्थान : 18
सिक्किम : 18
आंध्रप्रदेश : 18
पुडुचेरी : 18
उत्तरप्रदेश : 21
उत्तराखंड : 21
मध्यप्रदेश : 21
त्रिपुरा : 21
असम : 21
तेलंगाना : 21
झारखंड : 21
महाराष्ट्र : 21
मणिपुर : 21
तमिलनाडु : 21
पश्चिमी बंगाल : 21
अंडमान-निकोबार : 21
छत्तीसगढ़ : 21
मेघालय : 21
ओडिशा : 21।



और भी पढ़ें :