रीजीजू ने रिकॉर्ड 74 खिलाड़ियों को खेल पुरस्कार देने के सरकार के फैसले का बचाव किया

Last Updated: शनिवार, 29 अगस्त 2020 (12:37 IST)
नई दिल्ली। खेलमंत्री किरेन रीजीजू ने शनिवार को सरकार के इस साल 5 राजीव गांधी खेलरत्न सहित रिकॉर्ड 74 खिलाड़ियों को राष्ट्रीय से सम्मानित करने के फैसले का किया जिसकी कड़ी आलोचना हो रही है।
ALSO READ:
खेल रत्न बनकर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं : रोहित
खेल मंत्रालय की चयन समिति ने इस साल स्टार क्रिकेटर रोहित शर्मा और पहलवान विनेश फोगाट सहित 5 खिलाड़ियों को खेलरत्न जबकि 27 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार के लिए चुना। मंत्रालय ने द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए 13 और ध्यानचंद पुरस्कारों के लिए 15 कोचों का चयन किया।
रीजीजू ने शनिवार को कहा कि हमारे खिलाड़ियों का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन बेहतर हुआ है। जब हमारे खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करते हैं तो उन्हें सराहा और पुरस्कृत किया जाना चाहिए। अगर सरकार उनकी उपलब्धियों को सम्मानित नहीं करती तो इससे भारत की उभरती हुई खेल प्रतिभाओं का उत्साह कम होगा।
उन्होंने कहा कि इसलिए पिछले वर्षों की तुलना में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा जिसके कारण पुरस्कार विजेताओं की संख्या भी बढ़ी। खेलमंत्री ने कहा कि उनके मंत्रालय ने खेल पुरस्कारों पर फैसला नहीं किया, क्योंकि विजेताओं का चयन उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश की अध्यक्षता में स्वंतत्र समिति ने किया। (भाषा)



और भी पढ़ें :