पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे उद्घाटन को लेकर जुबानी जंग हुई तेज, BJP ने लगाया अखिलेश पर यह गंभीर आरोप

पुनः संशोधित मंगलवार, 16 नवंबर 2021 (13:29 IST)
लखनऊ। लखनऊ से गाजीपुर तक जाने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी (सपा) और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने सपा अध्यक्ष पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, यदि वह (अखिलेश) सत्ता में होते तो 2-लेन एक्सप्रेस-वे बनाते और बाकी 4-लेन का पैसा अपनी तिजोरी में भर लेते।
सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री ने मंगलवार को फिर दावा किया कि सपा के काम का श्रेय लेने के लिए 'खिचम-खिंचाई' मची है जबकि राज्य के उप मुख्यमंत्री ने तंज कसते हुए पलटवार किया कि अखिलेश प्रदेश के विकास से ख़ुश होने की जगह दुखी हो गए हैं।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने सपा अध्यक्ष पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, यदि वह (अखिलेश) सत्ता में होते तो 2-लेन एक्सप्रेस-वे बनाते और बाकी 4-लेन का पैसा अपनी तिजोरी में भर लेते। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब 22,500 करोड़ रुपए की लागत से बने करीब 341 किलोमीटर लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का आज दोपहर बाद सुलतानपुर में उद्घाटन करेंगे।

सपा प्रमुख ने मंगलवार को ट्वीट किया, फ़ीता आया लखनऊ से और नई दिल्ली से कैंची आई, सपा के काम का श्रेय लेने को मची है ‘खिचम-खिंचाई’। इसी ट्वीट में आगे उन्होंने कहा, आशा है कि अब तक अकेले में बैठकर लखनऊ वालों ने ‘समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे’ की लंबाई का आंकड़ा रट लिया होगा।

सपा ‘बहुरंगी पुष्पवर्षा’ से इसका उद्घाटन करके एकरंगी सोच वालों को जवाब देगी। अखिलेश के इस ट्वीट के कुछ देर बाद उप मुख्यमंत्री मौर्य ने ट्वीट किया, अखिलेश यादव प्रदेश के विकास से ख़ुश होने की जगह दुखी हो गए। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के लिए बधाई देते तो कद बढ़ता। उन्‍होंने कहा, आपने सपा को 2017 से छोटा कर लिया है।

वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में 403 सीटों वाले उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने सहयोगी दलों समेत 325 सीटों पर जीत हासिल की थी जबकि सपा को 47 सीटें मिली थीं। इसके पहले 2012 से 2017 तक अखिलेश यादव के नेतृत्व में राज्य में सपा की सरकार थी।

मौर्य ने एक अन्य ट्वीट में कहा, आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुलतानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करेंगे। यह पूर्वांचल में विकास के द्वार खोलेगा। इससे उत्तर प्रदेश व बिहार दोनों को फायदा होगा। यह डबल इंजन की सरकार का उपहार भी होगा। उत्तर प्रदेश की धरती पर प्रधानमंत्री जी का हार्दिक स्वागत व अभिनंदन।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश यादव पर गंभीर आरोप लगाते हुए ट्वीट किया, प्रदेश में डबल इंजन की सरकार की रफ्तार से अखिलेश जी डबल परेशान हैं! अखिलेश जी सोच में डूबे हुए हैं कि कैसे 341 किलोमीटर लंबा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे बन गया और एक रुपए का भी भ्रष्टाचार नहीं हुआ…यदि वह सत्ता में होते तो 2-लेन एक्सप्रेस-वे बनाते और बाकी 4-लेन का पैसा अपनी तिजोरी में भर लेते।

इससे पहले सोमवार को भाजपा ने सपा प्रमुख पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए ट्वीट किया, जिस हिसाब से कागजी एक्सप्रेस-वे का झूठा ढोल अखिलेश यादव पीट रहे हैं, उनका अगला ट्वीट होगा कि राम मंदिर भी समाजवादी पार्टी की सरकार ने बनवाया है। यह क्रेडिट भी ले ही लीजिए अखिलेश जी..जब इतना झूठ बोल दिए तो एक झूठ और सही..।

अखिलेश यादव ने सोमवार को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता पर सवाल उठाए थे और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर लागत कम करने के लिए गुणवत्ता से समझौता करने का आरोप लगाया। इसके बाद अखिलेश ने अपनी सरकार के समय 22 दिसंबर 2016 की समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास की एक तस्वीर ट्विटर पर साझा की जिसमें उनके समेत सपा के कुछ वरिष्ठ नेता नजर आ रहे हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :