Delhi Budget 2021 : दिल्ली में 69 हजार करोड़ का बजट, सरकारी अस्पतालों में Corona Vaccine मुफ्त

Last Updated: मंगलवार, 9 मार्च 2021 (16:40 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने मंगलवार को 2021- 22 के लिए 69,000 करोड़ रुपए का बजट पेश किया। बजट में दिल्ली सरकार ने अपने सभी अस्पतालों में लोगों को कोविड-19 टीका मुफ्त लगाने की घोषणा की है।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने राज्य का बजट पेश करते हुए कहा कि उनका यह बजट ‘देशभक्ति’ पर आधारित है। बजट के जरिए स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी गई है और इसमें देश की राजधानी को उनके सपनों की राजधानी बनाने की दिशा में कदम उठाए गए हैं।

सिसोदिया ने लगातार सातवीं बार बजट पेश किया। बजट में सिसोदिया ने उसका एक चौथाई शिक्षा क्षेत्र के लिए और 9,934 करोड़ रुपए स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए आवंटित करने का प्रस्ताव किया है।
सिसोदिया उपमुख्यमंत्री होने के साथ साथ वित्त मंत्रालय का कामकाज भी संभाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने देश की स्वतंत्रता का 75वां वर्ष मनाने का फैसला किया है। इसके लिए वे 12 मार्च से 75 सप्ताह तक कार्यक्रमों का आयोजन करेगी।

उन्होंने कहा कि देशभक्ति बजट के तहत राज्य सरकार राष्ट्रीय राजधानी में 500 स्थानों पर राष्ट्रीय ध्वज लहराने के लिए 45 करोड़ रुपए की लागत से ऊंचे खंबे लगाएगी। उन्होंने कहा कि हमने पूरी दिल्ली झंडा फहराने के लिए 500 ऊंचे खंबे लगाने के लिए 45 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। यह खंबे कनाट प्लेस स्थित सेंट्रल पार्क की तर्ज पर होंगे। कोई भी व्यक्ति अपने घर से दो किलोमीटर भी बाहर निकलता है तो वह तिरंगे को देखेगा और उसके मन में देशभक्ति की भावना पैदा होगी।

सिसोदिया ने कहा, कि राज्य के विद्यालयों में देशभक्ति की पढ़ाई के लिए ‘देशभक्ति पीरियड’ भी शुरू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 75 सप्ताह के ‘देशभक्ति’’ उत्सव के दौरान भगतसिंह और बीआर अंबेडकर के जीवन पर कार्यक्रम के लिए प्रत्येक के कार्यक्रम के वास्ते 10 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।
उप-मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि कोविड- 19 टीका लगाने के अगले चरणों में दिल्ली सरकार के अस्पतालों में टीका मुफ्त लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके लिए ‘आम आदमी निशुल्क कोविड टीका योजना’ के लिए 50 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।

वर्तमान में वरिष्ठ नागरिकों और 45 से 59 साल के आयुवर्ग में किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों के लिए केन्द्र और दिल्ली सरकार के अस्पतालों में कोविड- टीका नि:शुल्क लगाया जा रहा है जबकि निजी अस्पतालों में इसके लिए 250 रुपए लिए जा रहे हैं।
सिसोदिया ने कहा कि कोविड- 19 महामारी से मिले अनुभव को देखते हुए बजट में 1,239 करोड़ रुपए का अलग आवंटन रखा गया है जो कि स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार, नए अस्पताल खोलने, पुराने अस्पतालों की मरम्मत करने और बिस्तरों की संख्या बढ़ाने में किया जाएगा।

उप मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अगले साल से दिल्ली में विशेष ‘महिला मोहल्ला क्लिनिक’ खोले जाएंगे। पहले चरण में इस प्रकार के 100 क्लिनिक खोले जाएंगे।
उन्होंने कहा कि दिल्ली में हर नागरिक को स्मार्ट हेल्थ कार्ड जारी किए जाएंगे। इसके साथ ही एक स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली को भी अमल में लाया जा रहा है।

सिसोदिया ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में 100 विशेष उत्कृष्टता वाले विद्यालय स्थापित किए जाएंगे। इसके साथ ही एक प्रौद्योगिकी को अपनाने और उसके संवधन के लिए एक वर्चुअल मॉडल स्कूल भी शुरू किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार अध्यापक प्रशिक्षण और कानून की पढ़ाई के लिए विश्वविद्यालय की भी शुरुआत करेगी। दिल्ली में एक सैनिक स्कूल खोलने का भी प्रस्ताव है। इसके साथ ही आप सरकार ने कालोनियों में योग प्रशिक्षक उपलब्ध कराने का भी फैसला किया है। इसके लिए बजट में 25 करोड़ रुपए की राशि रखी गई है।
सिसोदिया ने कहा कि अगले दो वित्तीय वर्ष में सभी अनाधिकृत कालोनियों में जलापूर्ति सुनिश्चित कर दी जाएगी। बजट में दिल्ली जल बोर्ड के लिए अगले वित्त वर्ष के लिए 3,274 करोड़ रुपए का प्रस्ताव किया गया है।

उन्होंने कहा कि आप सरकार वर्ष 2047 तक दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय को सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय के बराबर ले जाने की इच्छा रखती है। अगले वित्त वर्ष के बजट का कुल आकार मौजूदा वर्ष के बजट के मुकाबले 6.1 प्रतिशत अधिक है। (भाषा)



और भी पढ़ें :