हिंसा के विरोध में JNU के छात्रों का मार्च, VC को हटाने की मांग

JNU
Last Updated: गुरुवार, 9 जनवरी 2020 (11:08 IST)
नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में 5 जनवरी को हुई हिंसा के बाद देशभर में बवाल हुआ। इस बीच खबर है कि हिंसा के विरोध में कैंपस के छात्र और शिक्षक संघ निकालेगा। समाचार चैनलों की खबर के अनुसार कैंपस के छात्र फीस बढ़ोतरी के आदेश को वापस लेने और वाइस चांसलर जगदीश कुमार को हटाने की मांग कर रहे हैं।
5 जनवरी रविवार शाम अज्ञात नकाबपोश लोगों ने में हमला कर दिया था। इसमें कई छात्र घायल हो गए थे। इसमें जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आइशी घोष भी घायल हो गई थीं। जेएनयू की हिंसा के बाद देश के कई राज्यों में छात्रों ने किया था।

नए सेमेस्टर के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के आखिरी दिन रविवार को कैंपस में प्रदर्शन हो रहा था। इस दौरान छात्रों का एक गुट प्रक्रिया का समर्थन कर रहा था और दूसरा विरोध कर रहा था। कैंपस में करीब 50 नकाबपोशों ने मारपीट और तोड़फोड़ की। 20 छात्रों के अलावा कुछ शिक्षक भी घायल हुए हो गए थे।

हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने 4 एफआईआर दर्ज की थी। इनमें छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष और अन्य पदाधिकारियों समेत 20 छात्रों के नाम थे। उन पर 4 जनवरी को विंटर सेमेस्टर की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया को बाधित करने और सर्वर रूम में तोड़फोड़ का आरोप लगाया गया था।

हालांकि इस मामले में अभी तक कोई गिरफ्‍तारी नहीं हुई है। प्रदर्शन कर रहे जेएनयू छात्रों के बीच बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण समर्थन देने के लिए पहुंची थीं। इसे लेकर भी खूब राजनीतिक बयानबाजी हुई।



और भी पढ़ें :