स्कूलों-कॉलेजों के खुलने पर सुरक्षा दिशा निर्देश तैयार कर रहा है HRD मंत्रालय

Ramesh Pokhriyal
Last Updated: शुक्रवार, 1 मई 2020 (18:44 IST)
नई दिल्ली। मानव संसाधन विकास मंत्रालय स्कूलों और कॉलेजों के खुलने पर सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षा दिशानिर्देश तैयार कर रहा है, जिसमें बैठक की नई व्यवस्था, अलग अलग कक्षाएं, भोजनालय एवं पुस्तकालय के लिए अलग नियम के साथ हॉस्टल एवं कैंटिन की नई व्यवस्थाएं शामिल हो सकती है।
देश में के कारण 16 मार्च से ही विश्वविद्यालय एवं बंद हैं। सरकार ने से मुकाबला करने के उपायों के तहत देशभर में कक्षाएं बंद करने की घोषणा की थी। इसके बाद 24 मार्च को की घोषणा की गई, जिसे बढ़ाकर 3 मई तक कर दिया गया है।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार, जब भी स्कूल और कालेज खुलेंगे तब उपयुक्त ढंग से सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना होगा क्योंकि स्वास्थ्य एवं सुरक्षा छात्रों के लिए सर्वोपरि है।

इस संबंध में स्कूलों के लिए दिशानिर्देश मंत्रालय का स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग तथा विश्वविद्यालयों के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) तैयार कर रहा है।
यूजीसी ने पहले ही सिफारिश की है कि नया शैक्षणिक सत्र सितंबर से शुरू हो सकता है और पहले से दाखिल छात्रों के लिए यह अगस्त से शुरू हो सकता है। स्कूल भी आभासी माध्यमों से पठन पाठन का कार्य कर रहे हैं ।

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इन दिशानिर्देशों में एक सूची को शामिल किया जाएगा और छात्रों एवं कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के सुझाव भी होंगे।
उन्होंने बताया कि हालांकि कुछ इलाकों में कोविड-19 की स्थिति को भी ध्यान में रखा जाएगा और संस्थानों को लचीले ढंग से दिशा निर्देशों को अपनाना होगा। अधिकारी ने बताया कि मंत्री पहले भी कई बार कह चुके हैं कि छात्रों की सुरक्षा एवं स्वास्थ्य सर्वोपरि है।
उन्होंने कहा कि दिशानिर्देश तैयार किए जा रहे हैं और इन्हें राज्यों के साथ साझा किया जाएगा ताकि स्कूल एवं खुलने पर वे इसके अनुरूप तैयारी कर सके। जिलों को दिशानिर्देश लागू करने का दायित्व दिया जाएगा और परिसर में कुछ स्थानों को सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के अनुरूप बनाया जाएगा।

मानव संसाधन विकास मंत्री ने पिछले सप्ताह राज्यों के शिक्षा मंत्रियों की बैठक में सुरक्षा दिशा निर्देशों के मुद्दे पर चर्चा की थी।

स्कूलों के लिए सुबह एक स्थान पर जमा होना और मैदान में खेल गतिविधियों को स्थगित रखने के साथ स्कूल बसों के नियम के अलावा शौचालय, कैफिटेरिया के लिए क्या करें और क्या न करें संबंधी निर्देश और पूरे भवन को नियमित तौर पर साफ करने जैसे कदम दिशानिर्देश का हिस्सा हो सकते हैं। मास्क स्कूल पोशाक का हिस्सा होगा।

कई आईआईटी भी छात्रों के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखने का खाका तैयार करने में जुटे हैं जिसमें आगंतुकों के प्रवेश पर रोक, पालियों में कक्षा आयोजित करने के साथ प्रयोगशाला उपयोग का समय निर्धारित करना आदि शामिल है।

यूजीसी की सिफारिशों के अनुसार, सेमेस्टर परीक्षा ऑनलाइन या ऑफलाइन जुलाई से आयोजित की जा सकती है। प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित करने में भी सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन करना होगा।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने जोर दिया है कि 10वीं एवं 12वीं की 29 विषयों की लंबित बोर्ड परीक्षा आयोजित की जाएगी लेकिन अभी तक कार्यक्रम घोषित नहीं किया गया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :