उफान पर गंगा, गांवों को बाढ़ की चेतावनी

पटना| Last Updated: शनिवार, 20 अगस्त 2016 (09:32 IST)
पटना। बिहार में गंगा नदी के किनारे स्थित गांवों में बाढ़ की चेतावनी जारी की गई है। केन्द्रीय जल आयोग ने गंगा के मैदानी भाग में स्थित जिलों को चेतावनी जारी कर शुक्रवार को कहा है कि अगले एक से पांच दिन में जलस्तर में वृद्धि हो सकती है।
आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जारी बयान के अनुसार, गंगा के जलस्तर में वृद्धि के कारण पानी पटना, बक्सर, भोजपुर, मुंगेर, सारण, वैशाली, भागलपुर और समस्तीपुर जिलों के नदी डूब क्षेत्र में घुस रहा है।
 
बयान के अनुसार, पटना, वैशाली और गोपालगंज जिलों में पहले से तैनात राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीमों को सचेत कर दिया गया है जबकि राष्ट्र आपदा मोचन बल को पटना और भागलपुर में सचेत किया गया है।
 
बयान में कहा गया है, गंगा और चार अन्य नदियां- पुनपुन, घाघरा, कोसी और बूढ़ी गंडक- पटना, भागलपुर तथा बक्सर जिलों में खतरे के निशान से उपर बह रही हैं।
 
सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों से लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए समुचित संख्या में नावों का प्रबंध करें तथा राहत शिविर खोलें। जिलाधिकारियों को मोबाइल मेडिकल टीमें तैयार रखने को कहा गया है। इन टीमों के पास पेयजल के शुद्धीकरण के लिए ‘हैलोजन’ की गोलियां और अन्य राहत सामग्री होनी चाहिए। उत्तरप्रदेश में भी गंगा उफान पर : उत्तर प्रदेश में मानसूनी बारिश का दौर जारी है। जलभरण क्षेत्रों में व्यापक वर्षों और बांधों से पानी छोड़े जाने की वजह से गंगा नदी उफान पर है। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र की रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य के पूर्वी हिस्सों में अनेक स्थानों पर जबकि पश्चिमी भागों में कुछ जगहों पर बारिश हुई। कुछ इलाकों में भारी वर्षा भी हुई। अगले 24 घंटे के दौरान राज्य के कुछ स्थानों पर बारिश होने का अनुमान है। (भाषा)



और भी पढ़ें :