शुक्रवार, 12 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. delhi nigambodh ghat cremation of 232 dead bodies in last two days heat stroke
Last Updated : शनिवार, 22 जून 2024 (19:42 IST)

heat wave in Delhi : दिल्ली में गर्मी ने दिला दी कोरोना काल की याद, श्मशान घाटों में शवों का अंबार

क्‍या गर्मी तोड़ेगी कोरोना का रिकॉर्ड

cremation in national capital delhi.jpg
1 दिन में 142 शवों का अंतिम संस्कार
अज्ञात शवों का लगा अंबार
देशभर में 40 हजार से ज्यादा हिट स्ट्रोक के मामले
heat wave in Delhi : उत्तर भारत में गर्मी जानलेवा साबित होती जा रही है। हीटवेव की वजह से यूपी, बिहार, राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली में अब तक सैकड़ों लोग जान गंवा चुके हैं। दिल्ली में गर्मी जानलेवा बनी हुई है। देश की राजधानी दिल्ली में गर्मी ने कोरोना काल के भयावह दौर की याद दिला दी। एनसीआर में गर्मी ने 55 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। श्मशान घाट में अंदर जलती चिंताएं और बाहर दाह का इंतजार करते शव। भट्टी जैसी तप रही दिल्ली में यह नजारा इन दिनों दिखाई दे रहा है। 
150 से अधिक मौतें : मीडिया खबरों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में दिल्ली में 150 से अधिक लोगों की मौत के बाद अस्पताल में शव रखने की जगह नहीं है। पिछले दो दिनों में दिल्ली की सड़कों से 50 से ज्यादा शव बरामद हुए हैं। श्मशान घाटों में अंतिम संस्कार के लिए 1 से 2 दिन की वेटिंग चल रही है। 
 
निगम बोध में अंतिम संस्कार का आंकड़ा डराने वाला : प्रचंड गर्मी और हीटवेव के बीच दिल्ली के निगम बोध घाट पर एक दिन में बीते 19 जून को 142 शवों का अंतिम संस्कार किया गया, जो कोविड-19 महामारी के बाद सबसे अधिक है। 1 जून से 20 जून दोपहर साढ़े 12 बजे तक तक निगम बोध श्मशान घाट पर 1200 से ज्यादा शवों का अंतिम संस्कार हो चुका है। कोविड के दौरान जून के महीने में शवों की संख्या 1500 थी। अभी इस महीने में 10 दिन बाकी हैं। यही सिलसिला रहा तो कोविड के आंकड़ों की बराबरी हो सकती है।
याद आया वह कोरोना का भयावह दौर : कोरोना काल को कौन भूल सकता है जब वायरस लोगों की जान ले रहा था। 22 अप्रैल 2020 में कोरोना में बोध घाट पर 1 दिन में 253 शवों का अंतिम संस्कार किया गया था।
नंबरों से अंतिम संस्कार : दिल्ली-NCR के गाजियाबाद में हालात डराने वाले हैं। हिंडन श्मशान घाट पर शवों के अंतिम संस्कार के लिए लंबी-लंबी कतारें लगी हैं। कोरोना काल में भी इतने अज्ञात शव नहीं आते थे, मगर पिछले तीन दिनों से ज्यादा शव आ रहे हैं। यहां स्थिति संभालने के लिए गाजियाबाद पुलिस-प्रशासन का सहारा भी लिया जा रहा है। अंतिम संस्कार के लिए शवों की लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं। नंबर से शवों का अंतिम संस्कार करवाया जा रहा है। रोजाना 5 से 6 अज्ञात शवों का भी अंतिम संस्कार किया जा रहा है। 
Heat
बढ़ाया गया स्टाफ : शवों की बढ़ती संख्या के दवाब को देखते हुए श्मशान घाट पर व्यवस्था बढ़ानी पड़ रही है। एक्स्ट्रा स्टाफ जोड़ा जा रहा है। वॉलंटियर्स भी लगाए गए हैं। ठंडा पानी पीने की व्यवस्था की गई है। लकड़ी के काउंटर पर एक्स्ट्रा लोग लगाने पड़ रहे हैं। लोगों को असुविधा न हो, इसका हर तरह से ध्यान रखा जा रहा है। 
अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ी : दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में अचानक से हीटवेव के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। हीटवेव के कारण पिछले 24 घंटे में 13 मरीजों की मौत हुई है। हीटवेव के 33 नए मरीज भर्ती हुए हैं।
40 हजार से ज्यादा हिट स्ट्रोक के मामले : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि इस वर्ष 1 मार्च से 18 जून के बीच भीषण गर्मी के कारण देशभर में 110 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और 40 हजार से अधिक लोगों को हीटस्ट्रोक होने की आशंका है। (एजेंसियां)