Cyclone Yaas Live Updates: NDRF ने ओडिशा, पश्चिम बंगाल में 112 टीमें तैनात की

Last Updated: मंगलवार, 25 मई 2021 (15:26 IST)
हमें फॉलो करें
कोलकाता। चक्रवाती तूफान 'यास' के उत्तरी ओडिशा के बालासोर के निकट 26 मई की दोपहर के आसपास दस्तक देने का पूर्वानुमान है। यह एक गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल चुका है। Cyclone Yaas से जुड़ी हर जानकारी...

03:24PM, 25th May
-राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने चक्रवात ‘यास’ के लिए अपनी तैयारियों के तहत ओडिशा और पश्चिम बंगाल में अब तक की सबसे अधिक टीमों को तैनात किया है।
-संघीय आपदा बल ने पांच राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में तैनाती के लिए कुल 112 टीमों को तैयार किया है। बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवात से इन इलाकों के प्रभावित होने की आशंका है।
-ओडिशा में सबसे अधिक 52 और पश्चिम बंगाल में 45 टीमों को तैनात किया गया है। इनके अलावा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में बाकी टीमों को तैनात किया गया है।
-एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने ट्वीट किया कि दो राज्यों ओडिशा और पश्चिम बंगाल में पहली बार सबसे अधिक टीमों को तैनात किया गया है।
11:42AM, 25th May
9 एक्सप्रेस ट्रेनों का परिचालन रद्द
train
-बंगाल की खाड़ी मे उठे चक्रवाती तूफान ‘यास’ के कारण पूर्व मध्य रेलवे के समस्तीपुर रेल मंडल प्रशासन ने ऐहतियात के तौर पर 09 प्रमुख एक्सप्रेस ट्रेनों के परिचालन को रद्द करने का निर्णय लिया है।
-वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक सह मीडिया प्रभारी सरस्वती चन्द्र ने बताया कि चक्रवाती तूफान के कारण 03021 हावड़ा-एक्सप्रेस ट्रेन, 03019 हावड़ा-काठगोदाम एक्सप्रेस ट्रेन, 03043 हावड़ा-रक्सौल एक्सप्रेस ट्रेन 26 मई को हावड़ा से रद्द रहेगी। 03185 सियालदह-जयनगर विशेष गाड़ी सियालदह से रद्द रहेगी।
-मुजफ्फरपुर से चलने वाली 03158 मुजफ्फरपुर- कोलकाता विशेष ट्रेन
-05234 दरभंगा- कोलकाता विशेष गाड़ी दरभंगा से, 03022 रक्सौल- हावड़ा विशेष ट्रेन रक्सौल से और 03186 जयनगर- सियालदह विशेष गाड़ी का परिचालन जयनगर से दिनांक 26 मई को रद्द रहेगा।
-चंद्र ने बताया कि इसी प्रकार कोलकाता से चलने वाली 05233 कोलकता-दरभंगा स्पेशल ट्रेन आगामी 27 मई को रद्द रहेगी।
08:33AM, 25th May
-चक्रवात तूफान  यास गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल गया है।
-ओडिशा में भारी बारिश, बालासोर के पास भूस्खलन की आशंका।
08:32AM, 25th May
-कोलकाता स्थित क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के उप निदेशक संजीब बंदोपाध्याय ने कहा, 26 मई की सुबह तक इसकी तीव्रता और बढ़ जाएगी तथा यह बेहद गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा।
-यह ओडिशा के पारादीप और पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप से होकर गुजरेगा जो बालासोर के निकट है।
-26 मई की सुबह ओडिशा के तट पर कम दबाव के इस क्षेत्र की वजह से 90 से 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी जो 110 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार तक भी पहुंच सकती हैं।
-बंदोपाध्याय ने कहा, बालासोर के निकट जब यह तूफान दस्तक देगा तो ओडिशा में जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक और बालासोर जिलों तथा पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर जिले में हवा की गति 155-165 किलोमीटर प्रतिघंटा होगी, जो बढ़कर 185 किलोमीटर तक पहुंच जाएगी।
-उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल के उत्तर और दक्षिण 24 परगना जिलों में 90-100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलेगी जो बढ़कर 120 किलोमीटर प्रतिघंटे तक पहुंच जाएगी।
-कोलकाता, हावड़ा और हुगली में 26 मई को हवा की रफ्तार 70 से 80 किलोमीटर प्रतिघंटे रहेगी और इसके बढ़कर 90 किलोमीटर तक पहुंचने की उम्मीद है।



और भी पढ़ें :