एलओसी पर भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई ने उस पार मचाई भारी तबाही

नई दिल्ली| Author सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: बुधवार, 19 जुलाई 2017 (23:40 IST)
श्रीनगर। पिछले तीन दिनों से पाकिस्‍तानी सेना द्वारा एलओसी के कई इलाकों में की जा रही भीषण मोर्टार की शेलिंग का जवाब देने के लिए भारतीय सेना को आज अपने तोपखानों के मुंह खोलने पड़े। नतीजा सामने था। पाक कब्‍जे वाले कश्‍मीर में भारतीय गोलाबारी ने जबरदस्‍त तबाही मचाई है।
रक्षा सूत्रों के बकौल, कई पा पोस्‍टें तबाह कर दी गई हैं और कई पाक भी मारे गए हैं। हालांकि इन दावों की आधिकारिक पुष्टि होना बाकी थी।

तीन रोज से की ओर से एलओसी पर हो रही गोलाबारी पर भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा लगातार मुंहतोड़ जवाब दिया गया है। जानकारी के अनुसार बुधवार को लगातार तीसरे दिन पाकिस्तान द्वारा एलओसी पर गोलाबारी के बाद भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा पाक को विध्वंस की भाषा में जवाब दिया गया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान की ओर से लगातार तीसरे दिन पुंछ, राजोरी समेत कुछ अन्य इलाकों में गोलाबारी शुरू की गई थी। इस नापाक हरकत के बाद सेना की ओर से पाकिस्तान को करारा जवाब देने की कार्रवाई करते हुए जवाबी कार्रवाई की गई।

भारतीय सेना की कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना की कई पोस्टों को तबाह किए जाने की खबरें हैं। इसके साथ ही कार्रवाई में कुछ पाकिस्तानी सैनिकों के मारे जाने की भी सूचना है। हालांकि सेना और अन्य एजेंसियों की ओर से अब तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

इस बीच पाकिस्तान ने आज दिन में संघर्ष विराम का एक बार फिर उल्लंघन करते हुए जम्मू-कश्मीर के पुंछ-राजौरी इलाके में कई गांवों और भारतीय चौकियों पर मोर्टार बम दागे, जिसमें एक आम नागरिक घायल हो गया। भारतीय सेना ने प्रभावी जवाबी कार्रवाई की। रक्षा प्रवक्ता ने कहा, पाकिस्तानी सेना ने सुबह तकरीबन आठ बजकर 45 मिनट से भिम्भर गली सेक्टर के नौशेरा सेक्टर में भारतीय सेना की चौकियों पर गोलाबारी की। भारतीय सेना ने कड़े और प्रभावी तरीके से जवाब दिया।
पाकिस्तान सेना ने राजौरी और पुंछ जिले के बालाकोट, धार, लम्बीबाडी, राजधानी, मानकोट, सैंडोट में भी गोले दागे। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सैंडोट में नियंत्रण रेखा के पास स्थित बस्ती में गोले दागने की घटना में घायल हुए व्यक्ति की पहचान रजा के तौर पर हुई है। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मंगलवार को भी पाकिस्तान ने पांच बार का उल्लंघन किया था। उसने कई गांवों और अग्रिम चौकियों पर मोर्टार बम दागे थे। इसमें दो जवान शहीद हो गए थे और छह अन्य लोग घायल हो गए थे।



और भी पढ़ें :