सीबीआई छापे मीडिया की आजादी पर हमला : कांग्रेस

पुनः संशोधित सोमवार, 5 जून 2017 (23:23 IST)
नई दिल्ली। ने एक निजी टेलीविजन चैनल के मालिक के ठिकानों पर केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के छापों को मीडिया की आजादी पर हमला करार देते हुए सोमवार को इसकी कड़ी निंदा की और कहा कि सरकार का प्रयास उसके खिलाफ बोलने वालों में भय और दहशत पैदा करना है।
        
कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता ने यहां पार्टी की नियमित प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि सीबीआई ने एनडीटीवी के सह संस्थापक और सह अध्यक्ष प्रणव रॉय के ठिकानों पर छापा मारकर मीडिया को डराने और उसमें भय पैदा करने का काम किया है। इससे यह संदेश देने का प्रयास किया गया है कि उसके खिलाफ बोलने वालों को इसी तरह के परिणाम भुगतने होंगे।
         
उन्होंने आरोप लगाया कि बीफ प्रतिबंध के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता द्वारा चैनल के एक एंकर के साथ दो दिन पहले झगड़ा किया था और उसके दो दिन बाद सरकार ने चैनल को सबक सिखाने के लिए सीबीआई का इस्तेमाल कर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि जब तक यह चैनल सरकार के हाथों खेलता रहा सब कुछ ठीक था, लेकिन जैसे ही उसने सवाल उठाए उसे डराने और सबक सिखाने की कार्रवाई शुरू हो गई। 
       
प्रवक्ता ने कहा कि केंद्र में जब कांग्रेस की सरकार थी तो इसी चैनल ने उसके खिलाफ कई मुद्दे उछाले और संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार को बदनाम करने का प्रयास किया था, लेकिन कांग्रेस सरकार ने उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। 
 
प्रवक्ता ने कहा कि एक बैंक से 48 करोड़ रुपए लेने के मामले में सरकार एनडीटीवी के खिलाफ कार्रवाई कर रही है लेकिन देश के कई बैंकों से नौ हजार करोड़ लेकर लंदन फरार हुए शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई और सरकार ने उसको देश से भाग जाने दिया। (वार्ता)
 



और भी पढ़ें :