बर्धवान विस्फोट : बांग्लादेश में करना चाहते थे विस्फोट!

पुनः संशोधित शनिवार, 25 अक्टूबर 2014 (10:57 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली/कोलकाता : राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को कहा कि मामले में गिरफ्तार आरोपी और उनके साथी आतंकवादी संगठन जमात उल मुजाहिदीन, बांग्लादेश (जेएमबी) के सदस्य हैं जो उस देश में संभावित आतंकवादी हमलों के वास्ते वहां बम ले जाने के लिए उन्हें (बम) बना रहे थे।
 
ने आज रात एक बयान में कहा कि उसने पश्चिम बंगाल के बर्धवान जिले के खगरागढ़ गांव के एक मकान में हुए विस्फोट से जुड़े मामले की जांच का आरंभिक चरण पूरा कर लिया है जिससे जेएमबी कार्यकर्ताओं के लिप्त होने का संकेत मिलता है।
 
दो व्यक्तियों- शकील अहमद और सुवोन मंडल उर्फ सुभान की देशी बम बनाते हुए मौत हो गई। दोनों ही बांग्लादेश के रहने वाले थे। एक व्यक्ति अब्दुल हकीम उर्फ हसन घायल हुआ था। अब्दुल और दो महिलाएं समेत चार लोग गिरफ्तार किए गए हैं।
 
एनआईए ने अपने बयान में कहा, ‘अब तक की जांच से खुलासा हुआ है कि आरोपी और उसके साथी आतंकवादी संगठन जमात उल मुजाहिदीन, बांग्लादेश (जेएमबी) के सदस्य हैं जिस पर बांग्लादेश में प्रतिबंध है। वे देशी बम बना रहे थे जो बांग्लादेश ले जाये जा रहे थे।’
 
एनआईए ने कहा कि उसका ध्यान जेएमबी की गतिविधियों पर केंद्रित है जिनमें उसके धनस्रोत सभी पहलुओं पर गौर किया जा रहा है। उसने कहा कि वह इस मामले के फरार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कोई भी जरूरी सूचना देने वाले के लिए नकद पुरस्कार देने की घोषणा पर भी विचार कर रही है। इन आरोपियों में बांग्लादेश के जेएमबी सदस्य हैं।
 
एनआईए प्रमुख शरद कुमार ने आज बर्धवान विस्फोट स्थल का दौरा किया और जांच एजेंसी द्वारा की जा रही मामले की जांच में प्रगति का जायजा लिया। वह विस्फोट स्थल पर गए। उन्होंने उस मकान का निरीक्षण किया जिसमें विस्फोट हुआ था, कमरों की जांच की और फिर वे इमारत की छत पर गए।
 
वहां लगभग 30 मिनट बिताने के बाद वह बादशाही मार्ग पर माथपारा स्थित एक अन्य मकान में गए, जहां से 40 आधुनिक हथगोले बरामद किए गए थे। एनआईए महानिदेशक बाद में मुर्शिदाबाद के बेलडंगा गए। वहां उन्होंने उस मकान का दौरा किया, जिसमें मृत आतंकवादी शकील किराए पर रहा था। कुमार अहमद द्वारा चलायी जाने वाली बुर्का बनाने की इकाई ‘बुर्का घर’ भी गए। संदेह है कि वह इस स्थान का उपयोग अन्य आरोपियों से मिलने के लिए करता था।
 
दौरे के बाद कोलकाता वापस लौटे कुमार ने संवाददाताओं से कहा, ‘मैं मामले की जांच की समीक्षा के लिए कोलकाता आया हूं। मैंने बर्धवान और मुर्शिदाबाद का दौरा किया। मेरी अपने अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा हुई। हमने फरार आरोपियों की गिरफ्तारी की रणनीति बना ली है। मैं अभी कुछ नहीं बता सकता क्योंकि इससे जांच प्रभावित होगा।’ बर्दवान जिले के खगरागढ़ में दो अक्तूबर को हुए विस्फोट के जांच की जिम्मेदारी एजेंसी के कंधों पर आने के दो सप्ताह बाद एनआईए के महानिदेशक आज घटनास्थल के दौरे पर आए थे।
 
एनआईए ने इस मामले में दो महिलाओं समेत कुल तीन लोगों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की है। इन महिलाओं में एक विस्फोट में मारे गए संदिग्ध आतंकवादी की पत्नी है। एनआईए के महानिदेशक बाद में मुर्शिदाबाद के बेलडंगा रवाना हो गए। वहां उन्हें उस मकान पर जाना था, जिसमें मृत आतंकवादी शकील किराए पर रहा था।
 
एनआईए की टीम ने जांच के दौरान पिछले कुछ दिन में बर्धवान जिले से बड़ी संख्या में किताबें और दस्तावेज, 12 बक्से और एक कार जब्त की है। (भाषा)



और भी पढ़ें :